होम > भारत

जून में भारत की बिजली खपत में 17.2% की वृद्धि दर्ज की गयी

जून में भारत की बिजली खपत में 17.2% की वृद्धि दर्ज की गयी

भीषण गर्मी और आर्थिक गतिविधियों में तेजी के बीच देश में बिजली की खपत साल-दर-साल 17.2 प्रतिशत बढ़कर 134.13 बिलियन यूनिट (बीयू) हो गई है।  बिजली मंत्रालय के  द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल जून में बिजली की खपत 114.48 बीयू दर्ज की गई थी, जो कि 2020 के इसी महीने में 105.08 बीयू से अधिक थी।.

इसके अलावा, पीक बिजली डिमांड  इस साल जून के दौरान 209.80 गीगावॉट (8 जून को) के सर्वकालिक उच्च स्तर पर रही।  जून 2021 में चरम बिजली आपूर्ति 191.24 GW और जून 2020 में 164.98 GW थी।

कोरोना वायरस के प्रसार के दौरान लॉकडाउन लगने  के कारण जून 2020 में बिजली की खपत और मांग प्रभावित हुई थी। जून 2019 (महामारी पूर्व अवधि) में बिजली की खपत 117.98 बिलियन यूनिट थी। इस साल जनवरी में महामारी की तीसरी लहर देश में आई, जिसने कई राज्यों को रात और सप्ताहांत कर्फ्यू जैसे स्थानीय प्रतिबंध लगाने के लिए मजबूर किया। उन्होंने बार और रेस्तरां में भोजन पर प्रतिबंध जैसे उपाय भी किए थे।

विशेषज्ञों की माने तो , बिजली की खपत और मांग मुख्य कारण तेज गर्मी और आर्थिक गतिविधियों में तेजी है जिससे देश में बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक आवश्यकताओं में बढ़ौतरी दर्ज की गयी है  विशेषज्ञों के अनुसार आने वाले महीनों में बिजली की मांग और खपत में उच्च दर से वृद्धि होने की संभावना है।