होम > भारत

जाने लखनऊ में कितने लोग वायरल बुखार से है पीड़ित

जाने लखनऊ में कितने लोग वायरल बुखार से है पीड़ित

राजधानी में लगातार दो दिन की बारिश के बाद मौसम में हुए बदलाव से वायरल बुखार के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। शहर व ग्रामीण इलाकों के सरकारी अस्पतालों की ओपीडी में सिर्फ बुखार के एक हजार से ज्यादा मरीज पहुंचे। बच्चे भी बुखार और सर्दी की चपेट में तेजी से आ रहे हैं। जलभराव वाले इलाकों में सबसे ज्यादा बुखार के मरीज निकल रहे हैं। इसमें फैजुल्लागंज, सरोजनीनगर,तेलीबाग चिनहट, दाउदनगर पारा के अलावा ग्रामीण इलाके शामिल हैं। उधर, डेंगू मरीज़ों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 

लोहिय संस्थान, सिविल, बलरामपुर, लोकबंधु, रानी लक्ष्मीबाई समेत दूसरे अस्पतालों की ओपीडी में सुबह से बुखार पीड़ितों की भीड़ उमड़ रही है। ओपीडी में सबसे ज्यादा भीड़ मेडिसिन विभाग में लग रही है। लोहिया संस्थान में करीब 80, बलरामपुर, सिविल, लोक बन्धु में 50-50 रानी लक्ष्मी बाई, भाउरावदेवरस अस्पताल में 30-30 बुखार के मरीज ओपीडी में आ रहे हैं। इसके अलावा शहर व ग्रामीण इलाकों के अस्पतालों, सीएचसी व पीएचसी में मंगलवार को करीब 500 बुखार के मरीज पहुंचे। अस्पतालों की इमरजेंसी फुल हो गई हैं।

बलरामपुर अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. हिमांशु चतुर्वेदी बताते हैं कि बुखार के मरीजों का आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। वहीं लोक बन्धु अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अजय शंकर त्रिपाठी का कहना है कि रोजाना 50 से अधिक बुखार के मरीज आते हैं। लगातार बारिश के कारण भीषण जलभराव और मौसम में आए बदलाव से वायरस बुखार तेजी से लोगों को गिरफ्त में ले रहा है। बदन दर्द के बाद मरीज को तेज बुखार जकड़ रहा है। मरीज भीषण कमजोरी संग घबराहट महसूस होने की शिकायत कर रहे हैं। बहुत से मरीज जाड़ा लगकर बुखार आने की बात भी बता रहे हैं। सिर दर्द भी महसूस हो रहा है। ज्यादातर बुखार पीड़ितों की खून की जांच कराई जा रही है।  

0Comments