होम > भारत

रोजगार मेलों से 25 हजार लोगो को रोजगार देने का लक्ष्य

रोजगार मेलों से 25 हजार लोगो को रोजगार देने का लक्ष्य

हर महीने प्रदेश के सभी मण्डलों में वृहद रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा। इस रोजगार मेले में कम से कम 1000 छात्र-छात्राओं को रोजगार दिये जाने का प्रयास किया जायेगा। शेष जनपदों मे कैम्पस प्लेसमेंट मेला आयोजित किया जायेगा। इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए निदेशक प्रशिक्षण एवं सेवायोजन हरिकेश चौरसिया ने बताया कि इस रोजगार मेले के माध्यम से 100 दिनों में कम से कम 25 हजार लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा 50 हजार बेरोजगार लोगों की कैरियर काउसलिगं की जायेगी।

प्रदेश सरकार द्वारा शासकीय विभागों एवं उसके अधीनस्थ संस्थाओं में आउटसोर्सिंग ऑफ मैनपावर के लिए भारत सरकार द्वारा विकसित -मार्केटप्लेस जेम (जेम) की व्यवस्था लागू किये जाने के सम्बन्ध में शासनादेश जारी कर दिया गया है। शासनादेश के अनुसार सेवायोजन पोर्टल पर उपलब्ध कार्मिकों मे से वरिष्ठता के स्थान पर अब केवल कम्प्यूटर द्वारा रेण्डम आधार पर ही कार्मिक लिये जायेंगे।

इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए निदेशक प्रशिक्षण एवं सेवायोजन हरिकेश चौरसिया ने बताया कि जेम पोर्टल पर पंजीकृत एवं बिड अवार्डी सेवाप्रदाताओं द्वारा सेवायोजन पोर्टल पर पंजीकृत अभ्यर्थियों के चयन हेतु रिक्तियों को अपलोड किया जायेगा। सेवायोजन पोर्टल पर रिक्तियों के प्रकाशन के सम्बन्ध में सेवाप्रदाता द्वारा प्रमुख समाचार पत्रों में विज्ञापन दिया जायेगा। जिससे अधिक से अधिक बेरोजगार अभ्यर्थियों को रिक्तियों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त हो सके।

सेवायोजन पोर्टल पर विभिन्न विभागों एवं संस्थाओं में आउटसोर्सिंग के माध्यम रिक्त पदों की सूचना आयेगी, जिस पर अभ्यर्थी आवेदन कर रोजगार से जुड़ने का अवसर प्राप्त कर सकेगा।

निदेशक प्रशिक्षण एवं सेवायोजन ने बताया कि सेवा मित्र पोर्टल के माध्यम से लोगो को लोकल सर्विस प्रदान की जा रही है। जिसमे बिजली, मिस्त्री, प्लम्बर आदि की जरूरत होने पर 155330 पर फोन करने पर सम्बन्धित व्यक्ति घर पहुंचेगा। इस सेवामित्र पोर्टल पर 100 दिनों 4 हजार लोगों पंजीकृत कराने का लक्ष्य रखा गया है।