होम > भारत

गृह मंत्रालय ने पुलिस पदक के लिए मांगी नामों की सिफारिश, राज्य पुलिस और सीएपीएफ भेजेगा नाम

गृह मंत्रालय ने पुलिस पदक के लिए मांगी नामों की सिफारिश, राज्य पुलिस और सीएपीएफ भेजेगा नाम

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पुलिस पदक के लिए नाम मंगाए हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय (एमएचए) ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) और केंद्रीय पुलिस संगठनों (सीपीओ) से इस वर्ष के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विशिष्ट और मेधावी सेवा के लिए राष्ट्रपति पदक के लिए पुलिस कर्मियों के नामों की सिफारिश करने को कहा है।

राज्यों और अन्य सुरक्षा बलों को भेजे गए पत्र के अनुसार, एमएचए के पुलिस डिवीजन ने डीजीपी से पुलिस कर्मियों के नाम जल्द से जल्द भेजने को कहा है।


राष्ट्रपति पुलिस पदक भारत में कानून व्यवस्था बनाए रखने वाले पुलिस अधिकारियों एवं कर्मियों को दिया जाने वाला एक पुरस्कार है।


1 मार्च, 1951 को स्थापित, राष्ट्रपति पुलिस पदक वीरता या विशिष्ट सेवा के लिए दिए जाते हैं। पदक के लिए कर्मियों द्वारा अपनी ड्यूटी के दौरान निभाई गई विशेष जिम्मेदारी और वीरता के प्रदर्शन को उच्च प्राथमिकता दी जाती है।


यह पदक प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर प्रदान किया जाता है।


यह उन व्यक्तियों को लंबी और विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है, जिन्होंने पुलिस सेवा या केंद्रीय पुलिस और सुरक्षा संगठनों में कम से कम 21 साल सेवा की हो।


सुरक्षा कर्मियों को जांच और अन्य सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था के मुद्दों के लिए अनुकरणीय कौशल दिखाने के लिए पदक प्रदान किए जाते हैं।