डायबिटीज कम करने में सहायक है ये फल, स्टडी में हुआ खुलासा

डायबिटीज कम करने में सहायक है ये फल, स्टडी में हुआ खुलासा

ब्लड शुगर बढ़ने से मरीजों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। डायबिटीज के मरीजों को खान-पान पर अधिक ध्यान देने की जरुरत होती है। खान-पान पर कंट्रोल करने से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है।


वहीं महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश में डॉक्टरों ने एक स्टडी की है। जिसमें उन्होंने पाया कि एक खास फल ब्लड शुगर को कम करने में मददगार साबित होता है। स्टडी की मानें तो डायबिटीज के मरीजों के लिए कटहल काफी लाभदायक होता है। कच्चा कटहल सब्जी के तौर पर और पका होने पर इसे फल की तरह खाया जा सकता है।


इस स्टडी को लेकर अंतरराष्ट्रीय मैगजिन "नेचर" में स्टडी प्रकाशित की गई है। स्टडी में बताया गया कि कटहल प्रभावी तरीके से डायबिटीज को कंट्रोल करता है। ऐसा ही एक शोध पुणे के चेलाराम डायबिटीज इंस्टीट्यूट के सीईओ एजी उन्नकृष्णन और श्रीकाकुलम सरकारी मेडिकल कॉलेज में सामान्य चिकित्सा के प्रोफेसर डॉ. गोपाल राव ने भी इस पर शोध किया है।


डॉक्टरों की मानें तो डायबिटीज के मरीजों में कटहल के सेवन से काफी अच्छे परिणाम देखने को मिलते है। स्टडी में पता चला कि कटहल का आटा सात दिनों में ब्लड ग्लूकोज को घटा देता है। 


डॉ. राव के मुताबिक अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन ने इस संबंध में एक स्टडी की है जिसके नतीजे डायबिटीज को कंट्रोल कर सकते है। वहीं हमारे देश में खाने-पीने के कई सारे विकल्प मौजूद है। बता दें कि रिसर्चर्स ने शोध के दौरान 40 डायबिटीज के मरीजों की डाइट में बदलाव किया।


टाइप 2 के मरीजों पर किया शोध


यह शोध टाइप 2 डायबिटीज मरीजों पर किया गया है। इस शोध के दौरान मरीजों की डाइट में चावल और गेहूं की जगह उन्हें कटहल का आटा दिया गया। तीन महीनों तक मरीजों को कटहल के आटे का सेवन करने के लिए दिया गया।


इसके बाद जब इनके ब्लड शुगर की जांच की गई तो रिजल्ट चौंकाने वाले थे। फास्टिंग ब्लड शुगर, पोस्टप्रांडियल ब्लड शुगर ग्लूकोज और HbA1c का स्तर काफी कम आया। इस डाइट से मरीजों का वजन भी कम हुआ। कटहल का आटा खाने से ग्लाइसेमिक भी नियंत्रण में रहता है।


ऐसे बनाएं कटहल का आटा


कटहल का आटा बनाने के लिए इसके बीज सुखाएं। बीज सूखने पर इसके ऊपरी छिलके को निकल लें। इसके बाद कटहल के बीजों को काटें और पीस लें। कटहल का आटा तैयार हो जाएगा। इस आटे को रोज 30 ग्राम खाएं। इसे आम आटे के साथ मिलाकर भी खा सकते है।

0Comments