होम > नौकरियां

कोचिंग मेहेंगी दोस्तों के नोट्स और इंटरनेट से किया यूपीएससी टॉप

कोचिंग मेहेंगी दोस्तों के नोट्स और इंटरनेट से किया यूपीएससी टॉप

यूपीएससी हमेशा उम्मीदवारों से कड़ी परीक्षा लेता है तैयारी के दौरान आईएएस की ट्रेनिंग शुरू परीक्षा में सफल होने वाले प्रत्येक छात्र की कहानी प्रेरणादायक है इन सबके बीच संत नगर दिल्ली के राघवेंद्र की कहानी भी है जो कि इंटरनेट पर उपलब्ध स्टडी मटेरियल और कभी अपने दोस्तों के नोट्स से पढ़ाई करता था लेकिन अंत में उन्होंने अखिल भारतीय 340 रैंक की स्थिति हासिल करने के बाद आरंभ किया जो उनका सपना था राघवेंद्र ने हमेशा बताया कि जो सवाल पूछा गया वह छात्रों के दिमाग की उपस्थिति की जांच करने के लिए था |

राघवेंद्र ने बताया पहले प्रयास में 2 अंक से चूके

राघवेंद्र शर्मा दिल्ली के रहने वाले हैं और कुछ दिन पहले ही वह 24 साल के हो गए हैं बुराड़ी में ही उनके पिता की केमिस्ट की दुकान है उन्होंने अपनी स्कूल की परीक्षा दिल्ली के सरकारी स्कूल से की है और दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी की है ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने का मन बना लिया था |

राघवेंद्र बताते हैं कि उन्होंने जीएस की तैयारी के लिए किसी कोचिंग में भाग नहीं लिया उन्होंने बताया कि यूपीएससी की कोचिंग बहुत महंगी है दोस्तों से नोट्स मांग कर काम पूरा किया सोशल मीडिया पर एक ग्रुप बनाकर सदस्यों ने अन्य उम्मीदवारों के साथ अपने नोट्स भी साझा किए अपने पहले प्रयास में सफलता का स्वाद नहीं चल सके लेकिन पहले प्रयास में उन्होंने अपना पूरा प्रयास किया राघवेंद्र केवल दो नंबर से चूक गए उनकी अगली पर अधिक परीक्षा अंतिम परिणाम घोषित होने के केवल 14 दिन बाद थी हमें यकीन था कि हम पहले ही प्रयास में सफल होंगे लेकिन ठीक है साल भर की मेहनत बेकार गई और फिर नए सिरे से तैयारी की राघवेंद्र समझ गई कि अब निराश होने का समय नहीं है |