होम > सेहत और स्वास्थ्य

सीएम योगी ने प्रदेश में डेंगू, वायरल फीवर, अपराध व अपराधियों पर नियंत्रण के लिए की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की

सीएम योगी ने प्रदेश में डेंगू, वायरल फीवर, अपराध व अपराधियों पर नियंत्रण के लिए की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की

कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया है। इसी बीच डेंगू का खतरा भी बढ़ने लगा है। डेंगू आम बुखार की तरह नहीं होता बल्कि जरा सी लापरवाही बरतने पर ये जानलेवा साबित हो जाता है। 


ये बुखार संक्रामक होता है जो एडीज मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू का मच्छर आमतौर पर जुलाई से अक्टूबर के बीच में पैदा होता है। दरअसल बरसात का पानी इन दिनों कई जगह इकट्ठा होता है। इस पानी में ही एडीज मच्छरों की संख्या में बढ़ोतरी होती है। 


नजरअंदाज करना है खतरनाक


इन दिनों दिल्ली में डेंगू का प्रकोप बढ़ने लगा है। इस बीमारी को नजरअंदाज करना खतरनाक साबित हो सकता है। इससे कई लोगों की जान भी जा चुकी है। वहीं 1996 में दिल्ली और आसपास के इलाकों में डेंगू की बीमारी महामारी का रूप भी ले चुकी है।


ये हैं डेंगू के लक्षण


  • ठंड लगने के साथ अचानक तेज बुखार आना
  • सिर, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना
  • आंखों के पिछले हिस्से में दर्द होना
  • आंखों को दबाने या हिलाते समय दर्द का अहसास होना
  • कमजोरी लगना और भूख की कमी होना, घबराहट होना
  • मुंह का स्वाद खराब होना
  • गले में हल्का दर्द
  • शरीर पर लाल निशान होना
  • रोगी को दुखी और बीमार महसूस होना


अगर किसी मरीज को ये लक्षण दिखाई दें तो उन्हें तत्काल इलाज कराने के लिए नजदीकी अस्पताल या डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। इलाज के लिए विलंब करने पर परेशानी अधिक बढ़ जाती है।


ये भी पढ़ें

सीएम योगी ने प्रदेश में डेंगू, वायरल फीवर, अपराध व अपराधियों पर नियंत्रण के लिए की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की

यूपी: फिरोजाबाद में डेंगू की जांच के लिए योगी ने भेजी एक और टीम

0Comments