होम > राज्य > दिल्ली

हिंसा से प्रभावित महिलाओं की मदद करेगा महिला आयोग

नई दिल्ली| राष्ट्रीय महिला आयोग ने हिंसा से प्रभावित महिलाओं को 24 घंटे आपातकालीन और गैर-आपातकालीन सेवाएं जैसे पुलिस, अस्पतालों, जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण, मनोवैज्ञानिक सेवाएं आदि उपयुक्त अधिकारियों के साथ, प्रदान करने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया जा रहा है।


मंगलवार 27 जुलाई को केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी, राष्ट्रीय महिला आयोग अध्यक्ष रेखा शर्मा, महिला बाल विकास मंत्रालय सचिव इंदेवर पाण्डेय, सचिव, प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी, डिजिटल इंडिया कॉपोर्रेशन की उपस्थिति में हेल्पलाइन का शुभारंभ होगा।


नई हेल्पलाइन का उद्देश्य हिंसा से प्रभावित महिलाओं के लिए एक ही छत के नीचे सेवाओं जैसे पुलिस, मनोवैज्ञानिक-सामाजिक परामर्श और अन्य सेवाओं के बीच एकल विराम केन्द्र (वन स्टॉप सेंटर) तक पहुंचने की एकीकृत श्रेणी की सुविधा प्रदान करना है।


महिलाओं के खिलाफ हिंसा से संबंधित मुद्दों पर मदद की सुविधा के लिए हेल्पलाइन 24 घंटे काम करेगी। राष्ट्रीय महिला आयोग देश भर में हिंसा या महिला अधिकारों से वंचित होने की विभिन्न श्रेणियों के तहत शिकायतों पर ध्यान दे रहा है। आयोग शिकायतों का उपयुक्त निवारण सुनिश्चित करने के लिए महिलाओं को पर्याप्त और सीधे राहत प्रदान करने में सुविधा के लिए शिकायतों पर कार्रवाई करता है।


शिकायत मंच को मजबूत और विस्तारित करने के लिए आयोग ने डिजिटल हेल्पलाइन शुरू करने की पहल की गई है, इस हेल्पलाइन सुविधा को डिजिटल इंडिया कॉपोर्रेशन, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सहयोग से विकसित किया गया है।


हेल्पलाइन का उद्देश्य पूरे देश में हिंसा से प्रभावित महिलाओं को समान रूप से पुलिस, अस्पताल, जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण, मनोवैज्ञानिक सेवाओं के माध्यम से उपयुक्त अधिकारियों से जोड़कर 24 घंटे आपातकालीन और गैर-आपातकालीन शिकायत एवं परामर्श सुविधा प्रदान करना और महिलाओं से संबंधित सरकारी कार्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करना है।


हेल्पलाइन प्रशिक्षित विशेषज्ञों की एक टीम के साथ काम करेगी। 18 वर्ष और उससे अधिक आयु की कोई भी बालिका अथवा महिला इस हेल्पलाइन पर संपर्क करके मदद ले सकती है जो राष्ट्रीय महिला आयोग, नई दिल्ली के परिसर से संचालित की जाएगी।