होम > अन्य

रात में देर से सोना कहा तक है सही - Medhaj news

रात में देर से सोना कहा तक है सही - Medhaj news

लोगों के देर रात तक जागने और सुबह जल्दी उठने की चर्चा खूब होती रही है। कई विशेषज्ञों का मानना ​​है कि दिन या रात के अलग-अलग समय में सोना घड़ी से नहीं, बल्कि हमारी अपनी जीवनशैली से निर्धारित होता है। ऐसे में जरूरी है कि नियमित शेड्यूल बनाए रखा जाए। कुछ अध्ययनों के अनुसार रात में काम करने से वास्तव में बुद्धि और रचनात्मकता में वृद्धि हो सकती है। यह महत्वपूर्ण है कि आप यह समझें कि ज्यादातर यह आपकी अपनी प्रकृति है जिस पर आपको काम करने की आवश्यकता है। बुद्धिमान, कल्पनाशील व्यक्ति आमतौर पर सामाजिक मानदंडों और प्रथाओं के विरुद्ध होते हैं। इस तरफ नाकाबंदी है। यदि आप नियमों के अनुसार सोते हैं, तो आप और अधिक निंदनीय होंगे। आप अपनी इच्छा से सहज क्रिया करेंगे।

यह अभी भी महत्वपूर्ण है कि आप सोते रहें और चीजों पर अति प्रतिक्रिया न करें, क्योंकि इसके नकारात्मक परिणाम हो सकते हैं। आपकी सेहत के लिए सबसे जरूरी है कि ज्यादा से ज्यादा नींद लें। यदि आपके सोने-जागने का चक्र बाधित है, तो यह आपकी अच्छी नींद को प्रभावित कर सकता है। यह सबसे अच्छा है अगर आप कुछ नींद लें, लेकिन अगर आपको थोड़ा आराम नहीं मिलता है तो आप सबसे अच्छी ऊर्जा प्राप्त करने में सक्षम नहीं होंगे। गहरी नींद नींद का तीसरा चरण है जिसे ज्यादातर लोग कोशिश करने के बाद भी लगभग 4 घंटे तक ही ले पाते हैं। यह औषधि आपके शरीर को फिर से जीवंत करने और आपकी ऊर्जा के स्तर में सुधार करने में आपकी मदद करेगी।

इसका उपयोग आपकी बैटरी को रिचार्ज करने के लिए भी किया जा सकता है। आपका शरीर इस दौरान रसायनों को खत्म करता है और रक्त को साफ करता है। आपके गुर्दे रक्त को शुद्ध करने में भी मदद करते हैं और आपका शरीर कोशिकाओं और मांसपेशियों की जगह लेता है।