होम > अन्य

पहली महिला भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस)- डॉ॰ किरण बेदी

पहली महिला भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस)- डॉ॰ किरण बेदी

किरण बेदी एक जाना माना नाम हैं। वह भारत की पहली महिला आईपीएस थी। उन्होंने बहुत समाजसेवी कार्य किये। इनका मूल नाम किरण पेशावरिया था। इनका जन्म 9 जून 1949 में अमृतसर, पंजाब के एक पंजाबी बिजनेसमैन परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम प्रकाश लाल पेशावरिया था। जो एक राष्ट्रीय टेनिस प्लेयर थे। इनकी माता का नाम प्रेमलता था। यह भी बैडमिंटन की प्लेयर थी। इनके पिता जी अपने टेक्सटाइल के, फैमिली बिजनेस में भी हेल्प किया करते थे।

9 वर्ष की आयु में अपने पिता से प्रेरित होकर किरण बेदी ने टेनिस खेलना शुरू कर दिया था। किरण जी की प्रारंभिक शिक्षा सेक्रेड हार्ट कॉन्वेंट स्कूल, अमृतसर में हुई। वहां पर उन्होंने नेशनल क्रेडिट कोर्स में भर्ती हुई। किरण जी चार बहनें थी। इनकी बड़ी बहन का नाम शशि था। इनसे छोटी दो बहनें और थी एक का नाम ऋतु, जो एक टेनिस खिलाड़ी व लेखक है और दूसरी अनु, वह भी टेनिस खिलाड़ी है। इनके पिताजी का सोचना था कि वह अपनी चारों बेटियों को उच्च शिक्षा दिलाएंगे। वह अपनी बेटियों को दुनिया के हर कोनों में भेजेंगे।

उन्होंने ने एक प्राइवेट इंस्टिट्यूट कैंब्रिज कॉलेज से 9th और 10th के एग्जाम दिए। 1964 में उन्होंने अपना पहला टूर्नामेंट नेशनल जूनियर लॉन टेनिस चैंपियनशिप दिल्ली जिमखाना में खेली। जिसमें वह शुरुआती राउंड में हार गई। इसके 2 साल बाद, उन्होंने 1966 में ट्रॉफी जीती। 1965 से 1978 के बीच, उन्होंने बहुत सारी चैंपियनशिप जीती। उन्होंने 30 साल की उम्र तक टेनिस खेला।

किरण बेदी जी ने 1968 में गवर्नमेंट कॉलेज फॉर वीमेन, अमृतसर से इंग्लिश में BA किया। इसी साल उन्होंने एनसीसी कैडेट ऑफिसर का अवार्ड भी जीता। उन्होंने पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ से पॉलिटिकल साइंस में 1970 में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। 1970 से 1972 तक उन्होंने, खालसा कॉलेज अमृतसर में पॉलिटिकल साइंस की लेक्चरर के रूप में काम किया। 1972 में किरण बेदी ने बृज बेदी से शादी की।

किरण बेदी एक भारतीय सामाजिक कार्यकर्ता, पूर्व टेनिस खिलाड़ी और राजनीतिज्ञ हैं, जो 1972 में भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में अधिकारी रैंक में शामिल होने वाली भारत की पहली महिला बनीं, वह 80 पुरुषों के बैच में अकेली महिला थीं। 6 महीने के फाउंडेशन कोर्स के बाद, उन्होंने राजस्थान के माउंट आबू में और 9 महीने का पुलिस प्रशिक्षण लिया, और 1974 में पंजाब पुलिस के साथ आगे का प्रशिक्षण लिया। ड्रॉ के आधार पर, उन्हें केंद्र शासित प्रदेश कैडर (अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम) आवंटित किया गया था।

किरण बेदी की पहली पोस्टिंग 1975 में दिल्ली के चाणक्यपुरी उपखंड में हुई थी। उसी वर्ष, 1975 में गणतंत्र दिवस परेड में दिल्ली पुलिस के सभी पुरुष दल का नेतृत्व करने वाली वह पहली महिला बनीं। इसी वर्ष उनकी बेटी सुकृति उर्फ साइना का जन्म सितंबर 1975 में हुआ था। इसके बाद उन्होंने, इंडियन पुलिस सर्विस में रहते हुए। 1988 में दिल्ली यूनिवर्सिटी से लॉ की डिग्री प्राप्त की। फिर 1993 में आईआईटी दिल्ली से सोशल साइंस में Ph.d की। उन्होंने 1988 में नव ज्योति एवं 1994 में इंडिया विजन फाउंडेशन की स्थापना की।

किरण जी को 1979 में प्रेजिडेंट पुलिस अवार्ड, 1994 में एशिया का नोबेल प्राइज कहे जाने वाला- रमन मग्सय्सय अवार्ड, 1995 में Lions of the Year अवार्ड, 2004 में UN अवार्ड, 2005 में मदर टेरेसा मेमोरियल नेशनल अवार्ड, 2013 में राय विश्वविद्यालय द्वारा डॉक्टर ऑफ पब्लिक सर्विस की मानद उपाधि और 2014 में Loreal Paris Femina Women Award से सम्मानित किया गया है

किरण बेदी ने भारतीय पुलिस सेवा में कई पदों पर कार्य किया था। 26 दिसंबर 2007 को उन्होंने अपने पुलिस सेवा से सेवानिवृत्ति ले ली। किरण बेदी ने 2015 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गयी। 2016 में उनके पति की मृत्यु कैंसर के कारण हो गयी। वह 28 मई 2016 से 16 फरवरी 2021 तक पुडुचेरी की 24वीं उपराज्यपाल थीं। किरण बेदी को क्रेन बेदी व लेडी सिंघम भी कहा जाता था। -----NY