होम > अन्य

घर के वास्तु दोषों को इन उपायों से करें दूर

घर के वास्तु दोषों को इन उपायों से करें दूर

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में अगर किसी तरह का वास्तु संबंधित कोई दोष रहता है तो उस घर में हमेशा दरिद्रता, बीमारियां और तरह-तरह की परेशानियां आती रहती हैं। मान्यता है कि जिस घर में वास्तु दोष होता है वहां से मां लक्ष्मी रूठ कर चली जाती है। घर में परिवार के सदस्यों के बीच आपसी कलह और लड़ाईयां होती रहती हैं।

1.घर में किसी भी प्रकार से वास्तु दोष है तो घर को स्वास्तिक चिन्ह,मांडने और पौधों से सजाएं। पीले, गुलाबी और हल्के नीले रंग का उपयोग करें। दक्षिण की दिशा में भारी सामान रखें जैसे लोहे की अरमारी, पलंग, फ्रीज आदि।
2.बाथरूप और टायलेट दोष से मुक्ति : नमक हर तरह की गंदगी को हटाने वाला रसायन है। एक कांच की कटोरी में खड़ा नमक (समुद्री नमक) भरें और इस कटोरी को बाथरूम में रखें। इस उपाय से भी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो सकती है।
3.वास्तु के अनुसार घर के प्रवेश द्वार के लिए ईशान कोण सबसे उपयुक्त दिशा है। बेडरूम के लिए यह दक्षिण-पश्चिम और किचन के लिए दक्षिण-पूर्व है। पूजा कक्ष के लिए यह घर का ईशान कोण शुभ होता है।
4.आपके नए घर का सामने या रहने का कमरा पूर्व, उत्तर या उत्तर पूर्व दिशा में स्थित होना चाहिए। इसके अलावा, उस कमरे में फर्नीचर पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखा जाना चाहिए। ऐसा करने से यह सुनिश्चित हो जाएगा कि आपके घर में कोई वास्तु दोष नहीं है।
5. नमक के पानी से पोछा लगाने पर घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। आपके घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाएगी। एक बात का विशेष ध्यान रखें कि गुरुवार के दिन घर में नमक वाले पानी का पोछा बिल्कुल नहीं लगाना चाहिए।
6.वास्तु के अनुसार घड़ी को पूर्व या उत्तर दिशा की दीवार पर लगाना शुभ माना जाता है, पूर्व और उत्तर दिशा में सकारात्मक ऊर्जा (Positive Energy) का भरपूर संचार होता है, इन दिशाओं में घड़ी लगाने से समय का शुभ-लाभ मिलता है।
7.टूटे-फूटे बर्तन, दर्पण, इलेक्ट्रॉनिक सामान, तस्वीर, फर्नीचर, पलंग, घड़ी, दीपक, झाड़ू, मग, कप आदि कोई सा भी सामान घर में नहीं रखना चाहिए। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है और व्यक्ति मानसिक परेशानियां झेलता है।
8.बेड के सामने लगा शीशा आयु को कम करता है, इसके अलावा आईना को बेडरूम के ड्रेसिंग टेबल पर, कमरे की खिड़की या दरवाजे के सामने नहीं लगाना चाहिए ,ऐसा इसलिए कि बाहर की रोशनी लाइट टकराकर नकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करती है, जिससे घर के लोगों पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
9.किचन में खाना बनाएं तो पूर्व दिशा की तरफ खाना बनाने वाले का मुंह होना चाहिए,इसीलिए जरुरी है कि किचन में गैस चूल्हा पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए, अगर इस दिशा में चूल्हा रखा जाता है तो इससे अग्नि से होने वाले हादसों में भी कमी आती है,और किचन में काम करने के दौरान व्यक्ति सुरछित  रहता है।