होम > विज्ञान और तकनीक

जैमर और बूस्टर के निजी इस्तेमाल पर रोक

जैमर और बूस्टर के निजी इस्तेमाल पर रोक

कोई भी व्यक्ति, प्राइवेट सेक्टर वायरलैस जैमर, बूस्टर और रिपिटर्स  का इस्तेमाल नहीं कर सकता , सरकार ने कहा है कि इन डिवाइसों का इस्तेमाल आमतौर पर गैर-कानूनी है, बिना सरकार की अनुमति के नहीं कर सकता है. वायरलैस जैमर, बूस्टर और रिपिटर्स का इस्तेमाल। इस डिवाइस को बिना सरकारी मंज़ूरी या उनके बनाये गए गाइडलाइन्स पर डिवाइस  ख़रीदा या बेचा जा सकता हैं 

वायरलैस जैमर, बूस्टर  केवल विशेष सरकारी संस्थान या आर्मी इस्तेमाल करते हैं अपने सिस्टम नेटवर्क को स्ट्रांग करने के लिए और भी अन्य देश डाटा चोरी न कर सके।  सिग्नल बूस्टर / रिपीटर के संबंध में यह बताया गया है कि लाइसेंस प्राप्त दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के अलावा किसी भी व्यक्ति / संस्था द्वारा मोबाइल सिग्नल रिपीटर / बूस्टर को रखना, बिक्री करना और / या उपयोग करना गैरकानूनी है, संचार मंत्रालय ने 1 जुलाई,2022 को ये निर्देश लागु किये हैं इन डिवाइसों की वजह से आम जनता को बहुत परेशानिया होती हैं जैसे की किसी ने जैमर लगाया हुआ हैं तो दूर संचार के नेटवर्क काम करना बंद कर देते हैं जिससे कॉल , इंटरनेट सेवाएं बाधित हो जाती हैं ,