होम > विज्ञान और तकनीक

नासा का अर्टेमिस मिशन पहुंचा चन्द्रमा की कक्षा में

नासा का अर्टेमिस मिशन पहुंचा चन्द्रमा की कक्षा में

अमेरिका की आधिकारिक स्पेस एजेंसी नासा का नया चंद्र मिशन अपनी पहली उड़ान में चन्द्रमा की कक्षा में प्रवेश कर चूका है। बेहद महंगे, आधुनिक और दूरगामी मिशन जिसके तहत नासा मनुष्यों को फिर से चन्द्रमा पर पहुंचाएगा। 

स्पेस लांच सिस्टम (SLS) राकेट से उड़ान 
इसी मिशन के अंतर्गत इसकी पहली उड़ान 16 नवंबर 2022 को की गयी थी। इस उड़ान को स्पेस लांच सिस्टम नाम के राकेट से की गयी और इस राकेट से ओरियन नाम के यान को भेजा गया था। ये एक मानव रहित उड़ान है ताकि ये जांच की जाएगी की इसमें लगे सिस्टम सही से काम कर रहे हैं और ये यान भविष्य में मनुष्यों को भी लेकर जा सकता है। वैसे भी पिछले कुछ दिनों में इसकी उड़ान 3 बार टल चुकी है। इसमें तकनिकी खराबी भी सामने आयी थी जिसके वजह से उड़ान को सितम्बर से बढाकर नवंबर में किया गया। 

यान पंहुचा चाँद के पास
अब ये यान चाँद के पास पहुंच चूका है और उसकी कक्षा में प्रवेश भी कर गया है। ये उडान एक फ्लाई-बाई है अर्थात ये चन्द्रमा की कक्षा में उड़ान भरकर धरती पर वापस आ जाएगा। ये यान चन्द्रमा से लगभग 64000 की०मी० की दूरी पर रहेगा। इसी उड़ान में ये यान धरती से लगभग 4 लाख कि०मी० से भी अधिक लंबी उडान भरेगा। 

भविष्य में ले जाएगा मनुष्यों को
अब इसकी सफलता के आधार पर 2024-25 में मनुष्यों को भी चन्द्रमा का फ्लाई-बाई मिशन को अंजाम देगा। उसके आगे मनुष्यों को चाँद पर उतारने और लम्बे समय तक रहने का इंतेज़ाम भी इसी की सफलता के आधार पर तै किया जाएगा। ये मिशन सिर्फ नासा के लिए ही नहीं बल्कि पूरी मानव जाती के लिए महत्वपूर्ण है।
HT