लिलिपुट बसता है चीन में, वैज्ञानिक भी हैं हैरान

लिलिपुट बसता है चीन में, वैज्ञानिक भी हैं हैरान

अच्छी हाइट के लिए माता-पिता अपने बच्चों को तरह-तरह के ड्रिंकिंग प्रोडक्ट्स पिलाते हैं। चिन अप एक्सरसाइज (chin up exercise) कराते हैं। क्योंकि, एक अच्छी हाइट की ख्वाहिश हर किसी को होती है। लेकिन, दुनिया में एक ऐसी जगह भी है, जहां की आधी आबादी बौनी है। यह चीन के शिचुआन प्रांत में स्थित यांग्सी गांव (yangsi village china) है। इस गांव में इतनी संख्या में बौने होना आश्चर्य पैदा करता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस गांव (kingdom of the little people) में रहने वाले लगभग आधे लोगों की लंबाई 2 फीट एक इंच से लेकर 3 फीट 10 इंच तक है। इतनी ज्यादा संख्या में लोगों के बौने होने के कारण यह गांव बौनों के गांव (dwarf village of china) के नाम से मशहूर है। गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि कई दशक पहले उनके गांव को एक खतरनाक बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया था। इसके बाद से कई लोग अजीबोगरीब हालात से जूझ रहे हैं। इसमें ज्यादातर 5 से 7 साल के बच्चे हैं। 

इस उम्र के बाद उनकी लंबाई रुक जाती है। इस इलाके में बौनों को देखे जाने की खबरें 1911 से ही आती रही हैं। 1947 में एक अंग्रेज वैज्ञानिक ने भी इसी इलाके में सैकड़ों बौनों को देखने की बात कही थी। हालांकि, आधिकारिक तौर पर इस खतरनाक बीमारी का पता 1951 में चला जब प्रशासन को पीड़ितों के अंग छोटे होने की शिकायत मिली। 1985 में जब जनगणना हुई तो गांव में ऐसे करीब 119 मामले सामने आए। समय के साथ ये समस्या रुकी नहीं, पीढ़ी दर पीढ़ी ये बीमारी भी आगे बढ़ती गई।

इसके डर से लोगों ने गांव छोड़ कर जाना शुरू कर दिया, ताकि बीमारी उनके बच्चों में ना आए। हालांकि 60 साल बाद अब जाकर कुछ हालात सुधरे हैं। अब नई पीढ़ी में यह लक्षण कम नजर आ रहे हैं। वैज्ञानिक और विशेषज्ञ इस गांव की पानी, मिट्टी, अनाज आदि का कई बार अध्ययन कर चुके हैं, लेकिन वो इस स्थिति का कारण खोजने में नाकाम रहे हैं।

0Comments