होम > खेल

कॉमनवेल्थ गेम्स बजरंग पूनिया ने जीता तीसरा मेडल

कॉमनवेल्थ गेम्स  बजरंग पूनिया ने जीता तीसरा मेडल

कॉमनवेल्थ गेम्स में बजरंग पुनिया ने फाइनल में पुरुषों के फ़्रीस्टाइल 65 किग्रा वर्ग में कनाडा के लैक्लैन मैकनील को हराया।एबम दीपक पुनिया ने पहली बार कॉमनवेल्थ खेलों में हिस्सा लिया और  86 किग्रा वर्ग में कमाल कर दिया .दीपक पुनिया ने पुरुष फ्रीस्टाइल 86 किग्रा वर्ग में  पाकिस्तान के पहलवान मुहम्मद इनाम को हराकर स्वर्ण पदक जीता।  और साक्षी मलिक ने महिलाओं के 62 किग्रा फाइनल में कनाडा की एना गोडिनेज गोंजालेज को हराकर स्वर्ण पदक जीता।  तीन स्वर्ण पदकों के बाद भारत पदक तालिका में स्कॉटलैंड से आगे पांचवें स्थान पर पहुंच गया।

हरियाणा के  झज्जर जिले के खुदन गांव में बजरंग का जन्म हुआ।  बजरंग के पिता भी पहलवान थे पर वो इंटरनेशनल लेवल पर नहीं पहुंच पाए। बजरंग के पिता का सपना था कि वो अपने बेटे को ओलिंपिक में भेंजे। बजरंग ने सोनीपत में मौजूद स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साई) के रीजनल सेंटर पर ट्रेनिंग ली है। 


बजरंग ने 2013 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में अपना पहल मेडल जीता था।  यह मेडल 60 किलो वेट कैटेगरी में जीता था।  बुडापोस्ट 2018 में हुई वर्ल्ड कुश्ती चैंपियनिशप में सिल्वर जीता था। नूर सुल्तान 2019 में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप में बजरंग ने सिल्वर मेडल जीता था ।