होम > खेल

चेस ओलिंपियाड में भारत को मिला ब्रॉन्ज ,उज्बेकिस्तान ने जीता गोल्ड

चेस ओलिंपियाड में भारत को मिला ब्रॉन्ज ,उज्बेकिस्तान ने जीता गोल्ड

चेस ओलिंपियाड जिसे शतरंज का ओलिंपिक भी कहते हैं में भारत खिलाड़ियों ने डबल ब्रॉन्ज जीते हैं। मेंस और विमेंस टीमें  तीसरे स्थान पर रही। 8 साल बाद भारत ने इस प्रतियोगिता में मेडल जीता है। 2018 में जॉर्जिया में हुए टूर्नामेंट से भारतीय खिलाडी बिना किसी मेडल के लौटे थे।

चेन्नई में आयोजित चेस ओलिंपियाड में भारत बी टीम  ने ओपन वर्ग में ब्रॉन्ज जीता और भारत- टीम ने तीसरा स्थान हासिल किया। जर्मनी को 3-1 से हराते हुए  भारत की बी टीम ने तीसरा स्थान पक्का कर लिया। भारत की टीम अपने 11वें राउंड में हार गई।

चेस ओलिंपियाड होते हुए 98 साल हो चके है लेकिन भारत ने पहली बार चेस ओलिंपियाड की मेजबानी की है।  चेस ओलिंपियाड में उज्बेकिस्तान ने  गोल्ड जीता है।  उज्बेकिस्तान  ने नीदरलैंड को 2-1 से हराया। उज्बेकिस्तान की जीत ने सभी को हैरान कर दिया। उज्बेकिस्तान की टीम ने 19 पॉइंट हासिल किये। ओलंपियाड 2026 की मेजबानी  भी उज्बेकिस्तान को ही दी गयी है।

भारत की टॉप सीड इंडिया को विमेंस कैटेगरी में अमेरिका के खिलाफ 11वें राउंड में पराजय झेलनी पड़ी। इस हार के साथ भारत को गोल्ड मिलने का अवसर समाप्त हो गया।  टीम तीसरे स्थान पर रही। गोल्ड की उम्मीदों को झटका तानिया-भक्ति की हार से लगा।

जर्मनी को 3-1 से हराकर  भारतीय-बी टीम ने दूसरा कांस्य पदक जीता। डी. गुकेश इंडिया-बी की टीम में शुरुआत से आगे थे।   डी. गुकेश ने 9 /11 का स्कोर बनाया।  निहाल सरीन ने 7.5/10, प्रज्ञानंदा ने 6.5/9,  रौनक साधवानी ने भी 5.5/8 का मूल्यवान स्कोर किया।