होम > खेल

कौन हैं घरेलू क्रिकेट के कामयाब कोच

कौन हैं घरेलू क्रिकेट के कामयाब कोच

आज भारत के पूर्व विकेट कीपर और बल्लेबाज़ चंद्रकांत सीताराम पंडित का नाम हर तरफ़ गूंज रहा हैं। चंद्रकांत सीताराम पंडित का विकेट कीपरिंग और बल्लेबाज़ से नहीं बल्कि एक कोच के रूप में उनका नाम हो रहा।

पूर्व क्रिकेटर चंद्रकांत सीताराम पंडित बतौर कोच मध्य प्रदेश को पहली बार 'रणजी ट्रॉफ़ी' का चैंपियन बनाया है। इस पहले मध्य प्रदेश टीम के बतौर कप्तान टीम को उन्होंने फ़ाइनल तक पहुंचाया था। लेकिन वो फ़ाइनल नहीं जीत पाए थे। बतौर कप्तान चंद्रकांत पंडित के हाथों से जो ट्रॉफ़ी निकल गई थीं। उस ट्रॉफ़ी को चंद्रकांत पंडित ने बतौर कोच हासिल कर लिया हैं। मध्य प्रदेश टीम के कप्तान आदित्य श्रीवास्तव ने जीत का सारा श्रेय अपने कोच चंद्रकांत पंडित को दिया और कहा कि उनसे ही उन्हें नेतृत्व करने के बारे में पता चला। पूर्व क्रिकेटर चंद्रकांत पंडित 1987 में  विश्व कप के सेमीफ़ाइनल में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच खेला था। पूर्व क्रिकेटर चंद्रकांत पंडित को भारत के घरेलू क्रिकेट का सबसे कामयाब कोच बना दिया है।

पूर्व क्रिकेटर चंद्रकांत पंडित के बारे में विजय लोकपल्ली कहते हैं। कि आज उनसे बेहतर कोई कोच ही नहीं है। वह बिना लैपटॉप के सारे समय क्रिकेट की बातें करते रहते हैं। उन्हें 'क्रिकेट का कीड़ा' कहा जा सकता है। मैं तो उन्हें उनके खेलने के ज़माने से जानता हूं। इतनी सारी उपलब्धि के बावजूद उनमें कोई गर्व का भाव नहीं है। वह बस अपना काम करते हैं, और वह बहुत बेहतरीन इंसान हैं।