होम > खेल

दिनेश कार्तिक का फिनिशर बनने का सफर

दिनेश कार्तिक का फिनिशर बनने का सफर

2019 के बाद दिनेश कार्तिक ने भारतीय टीम में वापसी की है।  साउथ अफ्रीका के खिलाफ कार्तिक ने अच्छा खेल दिखाया।  और इस सीरीज  में कार्तिक ने फिनिशर का रोल निभाया। लेकिन दिनेश कार्तिक के फिनिशर बनने का सफर भी बड़ा दिलचस्प है।  और इसका पूरा श्रेय रोहित शर्मा को जाता है।

दिनेश कार्तिक का फिनिशर बनने का सफर 4 साल पहले 2018  में निदहास ट्रॉफी से शुरू हुआ था।  उस मैच में कार्तिक ने गजब का खेल दिखाते हुए वो मैच भारत के लिए जिताया था। वो मैच बांग्लादेश के खिलाफ खेला गया था।  उस मैच में कार्तिक ने 7 वें नंबर पर बल्लेबाजी की थी। लेकिन दिनेश कार्तिक इस नंबर पर बल्लेबाजी नहीं करना चाहते थे।  वो ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करना चाहते थे। इसके लिए वो रोहित शर्मा से भी नाराज हो गए थे। लेकिन जब वो आखिरी बॉल पर छक्का लगाकर मैच जिताकर वापस आये तो उन्होंने  रोहित को धन्यवाद कहा था।

उस मैच में कार्तिक ने 29 रन केवल 8 गेंदों में बनाये थे। ये रन 362.50 के स्ट्राइक रेट से बने थे। फाइनल मैच में भारत को आखिरी गेंद में 5 रन चाहिए थे, कार्तिक ने आखिरी बॉल पर 6 रन बनाकर वो मैच जिताया था। 2018 में रोहित ने जो प्रयोग किया था वो अब 2022 में भी काम आरहा है। अगर दिनेश कार्तिक इसी तरह का प्रदर्शन जारी रखते है तो उनका चयन वर्ल्ड कप टीम के लिए भी हो सकता है।