होम > खेल

Thomas Cup चैंपियन टीम को राष्ट्रपति कोविंद ने दी बधाई, PM मोदी ने दिया न्यौता, देखें Video

Thomas Cup चैंपियन टीम को राष्ट्रपति कोविंद ने दी बधाई, PM मोदी ने दिया न्यौता, देखें Video

नई दिल्ली | राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृहमंत्री अमित शाह और BCCI सचिव जय शाह ने बैंकॉक में भारतीय बैडमिंटन टीम ( Indian Badminton Team ) को बधाई दी, जिसने फाइनल में इंडोनेशिया पर 3-0 से जीत के साथ अपना पहला Thomas Cup जीतकर इतिहास रच दिया।


टीम इंडिया के इस ऐतिहासिक जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) ने खिलाड़ियों से फोन पर बातचीत की। जिसके बाद PM मोदी ने भारतीय खिलाड़ियों को PM आवास पर आने का भी न्यौता दिया है।  


https://twitter.com/narendramodi/status/1525832782777548800


लक्ष्य सेन ( Lakshya Sen ) की जीत, सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी ( Rankireddy, Chirag Shetty ) की युगल जोड़ी और पूर्व विश्व नंबर 1 किदांबी श्रीकांत ने भारत को प्रतिष्ठित ट्रॉफी जीतने में मदद की। बैडमिंटन में यह सबसे प्रतिष्ठित खिताब है।


राष्ट्रपति ने की भारतीय टीम के कौशल की सराहना 


भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ( President Ram Nath Kovind ) ने भारतीय टीम के कौशल की सराहना की। राष्ट्रपति ने एक ट्वीट में कहा, भारतीय बैडमिंटन टीम को पहली बार थॉमस कप जीत के लिए हार्दिक बधाई। टीम ने इतिहास बनाया है। भविष्य के लिए उच्चतम मानक स्थापित किए हैं। टीम द्वारा दिखाए गए कौशल और स्वभाव के लिए मुझे भारतीय टीम पर गर्व है।


गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- महान उपलब्धि पर बधाई 


गृह मंत्री अमित शाह ( Home Minister Amit Shah ) ने इसे भारतीय बैडमिंटन टीम के लिए एक महत्वपूर्ण दिन बताया। अमित शाह ने ट्वीट किया, भारत ने थॉमस कप जीता है। भारतीय बैडमिंटन टीम के लिए यह एक ऐतिहासिक दिन है, जो इतिहास में दर्ज होगा। मैं अपनी पूरी टीम को इस महान उपलब्धि पर बधाई देता हूं। आज हर भारतीय को बहुत गर्व है।


सचिन तेंदुलकर ने दी बधाई 


इस बीच, BCCI सचिव ने भी भारत को उनकी ऐतिहासिक सफलता पर बधाई दी। भारतीय क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर ( Sachin Tendulkar ) ने भी इसे ऐतिहासिक क्षण बताया। तेंदुलकर ने ट्वीट किया, सभी भारतीयों के लिए ऐतिहासिक क्षण! भारतीय बैडमिंटन के लिए क्या दिन है। हमारा पहला थॉमस खिताब जीतने पर पूरी टीम को बधाई।


बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष हिमंत बिस्वा सरमा के अनुसार, भारत की ऐतिहासिक जीत प्रतिभा के हुनर को दर्शाती है। उन्होंने इस जीत का श्रेय खिलाड़ियों और कोचिंग स्टाफ को भी दिया। इससे पहले, भारतीय पुरुष टीम 1952, 1955 और 1979 में थॉमस कप के सेमीफाइनल में पहुंची थी।