यूपीएससी क्लीयर करने के लिए सेल्फ स्टडी है सबसे जरूरी

यूपीएससी क्लीयर करने के लिए सेल्फ स्टडी है सबसे जरूरी

यूपीएससी की परीक्षा क्लीयर कर आईएएस बनने का सपना तो कई लोग देखते हैं मगर इस सपने को साकार काफी कम लोग कर पाते है। इन काफी कम लोगों में अतुल प्रकाश भी शामिल हैं जिन्होंने 2017 में ऑल इंडिया टॉप करते हुए चौथी रैंक हासिल की थी। 


बिहार के बक्सर जिले के रहने वाले अतुल प्रकाश बचपन से ही पढ़ाई में काफी तेज थे। उन्होंने 10वीं कक्षा में 94% और 12वीं कक्षा में  87% अंक हासिल किए। स्कूल के बाद उन्होंने आईआईटी दिल्ली में एडमिशन लिया।


आईआईटी के दौरान यूपीएससी के बारे में सोचा


आईआईटी से ग्रुजेएशन करने के दौरान उन्होंने यूपीएससी के बारे में जानकारी हासिल की। इसके बाद उन्होंने टॉपर्स के ब्लॉग और इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी से इसकी तैयारी शुरु की।


उन्होंने पहले तैयारी करने के लिए कोचिंग में एडमिशन लिया मगर सिर्फ दो महीने में कोचिंग से उनका मन हट गया और वो सेल्फ स्टडी के जरिए पढ़ाई करने लगे। उनका कहना है कि एग्जाम के लिए सबसे अधिक सेल्फ स्टडी मायने रखती है।


एग्जाम की तैयारी करने के लिए जरुरी है कि टेस्ट सीरीज को सॉल्व किया जाए। उन्होंने प्री एग्जाम और मेन्स एग्जाम दोनों की टेस्ट सीरीज को सॉल्व करना शुरु किया और इसे सॉल्व करते हुए ही एग्जाम की तैयारी की।


दो बार दिया एग्जाम और दोनों बार हुए सफल


बता दें कि अतुल ने दो बार यूपीएससी परीक्षा दी। दोनों ही बार उन्होंने परीक्षा पास की। 2016 और 2017 में उन्होंने एग्जाम दिए थे, जिसमें ऑप्शनल सब्जेक्ट के तौर पर उन्होंने गणित चुना। 2016 में दी परीक्षा में उनका चयन इंडियन रेलवे सर्विस के लिए हुआ था। मगर इससे उन्हें संतुष्टि नहीं थी। इसलिए उन्होंने अगले साल फिर से एग्जाम दिया और चौथी रैंक हासिल की।

यूपीएससी ने रीजनल डायरेक्टर पद पर निकाली वेकेंसी, 30 सितंबर तक करें अप्लाई

दो बार यूपीएससी परीक्षा पास करने वाले आईएएस अफसर से जानें तैयारी के टिप्स

यूपीएससी ईपीएफओ परीक्षा : 5 सितंबर को होगा आयोजन, देखें पूरी जानकारी

0Comments