होम > यू.पी.एस.सी

JEE (मेन) परीक्षा अप्रैल और मई महीने में होगी

JEE (मेन) परीक्षा अप्रैल और मई महीने में होगी

नई दिल्ली। शिक्षा मंत्रालय ने JEE (मेन) के नए सत्र घोषित कर दिए हैं।  इस साल JEE (मेन) परीक्षा अप्रैल और मई महीने में आयोजित होने वाले 3 सत्रों में ली जाएगी।  इससे पहले बीते वर्ष JEE मेन की परीक्षा 4 बार आयोजित की गई थी। हालांकि, अब छात्रों को इस बार JEE परीक्षा में शामिल होने के लिए केवल 2 ही अवसर मिलेंगे। 


मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि उम्मीदवार 1 से 31 मार्च तक JEE मेन 2022 आवेदन पत्र भर सकते हैं. JEE की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. इस दौरान छात्रों के मोबाइल नंबर और ई-मेल एड्रेस का प्रमाणीकरण किया जाएगा।  उम्मीदवारों को शुल्क जमा करने से पहले अपने पंजीकृत ई-मेल पर प्राप्त OTP को दर्ज करना होगा। 


IIT में दाखिले के लिए ली जाने वाली यह प्रवेश परीक्षा 2 हिस्सों में आयोजित की जाती है. JEE का पहला चरण JEE मेन है और दूसरे चरण में JEE एडवांस टेस्ट होता है।  IIT के लिए आवेदन करने वाले बच्चे पहले मेन के लिए आवेदन देते हैं और इसमें सफल होने वाले आगे JEE एडवांस परीक्षा में शामिल होते हैं। 


JEE मेन परीक्षा में शामिल होने वाले बच्चों में से केवल शीर्ष 2,20,000 ही एडवांस परीक्षा में बैठने की पात्रता रखते हैं। यह परीक्षा मुख्य परीक्षा के कुछ सप्ताह बाद होगी। JEE में शामिल होने के लिए किसी छात्र को कक्षा 12 बोर्ड में अच्छे अंक हासिल करना अनिवार्य होता है। 


JEE मेन में 2 पेपर होते हैं।  पेपर-1 और पेपर-2. उम्मीदवार एक या दोनों पेपर को भी चुन सकते हैं। दोनों में बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं. पेपर 1 बीई और बीटेक कोर्स में प्रवेश के लिए है। इसे ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड दोनों में आयोजित किया जाता है।  पेपर-2 बीआर्क और बी प्लानिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए है, यह केवल ऑफलाइन आयोजित किया जाता है। 


JEE एडवांस के विपरीत JEE मेन की एक निश्चित परीक्षा संरचना है. पेपर-1 तीन घंटे की अवधि का होता है और तीन विषयों (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित) में प्रत्येक से 30-30 बहु-विकल्प (एकल-सही) प्रश्न शामिल होते हैं.