होम > यू.पी.एस.सी

जानिए क्यों इतना महत्व है आईएएस अधिकारी का, मिलती हैं ये सुविधाएं और वेतन

जानिए क्यों इतना महत्व है आईएएस अधिकारी का, मिलती हैं ये सुविधाएं और वेतन

भारत में हर वर्ष सैंकड़ों छात्र यूपीएससी यानी संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा के जरिए आईएएस बनने के लिए आवेदन करते है। इस परीक्षा को देश की सबसे मुश्किल परीक्षा माना जाता है। इस परीक्षा में काफी कम लोग ही सफल हो पाते है।


जो सफल होते हैं वो ही आईएएस, आईपीएस अधिकारी बनते है। अधिकारियों को विभिन्न मंत्रालयों, विभागों या जिला प्रशासनिक मामलों का अधिकारी नियुक्त किया जाता है।

सिविल सर्विस परीक्षा को पास कर उम्मीदवार आईएएस अधिकारी बनते है। उन्हें सातवें वेतन आयोग के अनुरूप 56,100 रुपये का भुगतान किया जाता है। उन्हें टीए और डीए अलाउंस भी मिलता है। सभी अलाउंस मिलाकर उनका वेतन लगभग एक लाख रुपये होता है। 

आईएएस अधिकारी के कैबिनेट सचिव पद पर पहुंचने पर एक आईएएस अधिकारी को 2.5 लाख रुपये प्रति महिना वेतन मिल सकता है। आईएएस अधिकारी को सबसे अधिक मिलने वाला वेतन एक कैबिनेट सचिव का ही है।

वेतन के अलावा मिलती हैं ये सुविधाएं

एक आईएएस अधिकारी को वेतन के अलावा कई सुविधाएं मिलती है। इसमें स्केल का निर्धारण किया जाता है। इसमें जूनियर स्केल, सीनियर स्केल, सुपर टाइम स्केल शामिल होता है। आईएएस अधिकारी को अलग अलग बैंड के तहत वेतन का भुगतान होता है। 

बैंड के आधार पर ही अधिकारियों को सुविधाएं दी जाती है। उन्हें बंगला, घरेलू काम के लिए कुक समेत अन्य स्टाफ मिलता है। अफसरों को सरकारी यात्रा भी निशुल्क दी जाती है। बिजली बिल, टेलीफोन बिल का भी उन्हें भुगतान नहीं करना होता है।