होम > यू.पी.एस.सी

यूपीएससी में सफलता पाने के लिए सेल्फ स्टडी है जरुरी

यूपीएससी में सफलता पाने के लिए सेल्फ स्टडी है जरुरी

यूपीएससी में सफलता पाने के लिए सिर्फ कोचिंग या किताबें मायने नहीं रखती। इसके साथ ही सेल्फ स्टडी भी करनी पड़ती है। सेल्फ स्टडी का यूपीएससी की परीक्षा में काफी महत्वपूर्ण योगदान होता है। यूपीएससी परीक्षा क्लीयर करने वाले उम्मीदवार भी सेल्फ स्टडी पर जरुर जोर देते है। 


ऐसे ही एक यूपीएससी में ऑल इंडिया रैंक 7 प्राप्त करने वाले हैं वासु जैन, जिन्होंने कोचिंग की मदद लिए बिना ही सिर्फ सेल्फ स्टडी करते हुए यूपीएससी में इतनी अच्छी रैंक हासिल की। 


उनका मानना है कि सेल्फ स्टडी, स्ट्रैटजी और मेहनत के जरिए ही यूपीएससी को पास किया जा सकता है।


ऐसे बनाएं स्ट्रैटेजी


उन्होंने मीडिया को बताया कि सबसे पहले उम्मीदवारों को तैयारी के लिए एनसीईआरटी की बेसिक किताबों से पढ़ाई की। एनसीईआरटी की किताबों को अच्छे से पढ़ें। उसके  बाद स्टैंडर्ड किताबों से तैयारी करें। पढ़ाई के साथ नोट्स बनाएं और रिवीजन भी करें। वहीं प्री और मेन्स एग्जाम के लिए भी अलग स्ट्रैटजी बनाकर काम करें।

 

सही गाइडेंस है जरुरी


उन्होंने कहा कि कोचिंग लेना या कोचिंग न लेना जरुरी नहीं है। कोचिंग को लेकर हर व्यक्ति का अपना नजरिया होता है। सही गाइडेंस है तो के जरिए कोचिंग के बिना भी सफलता मिल सकती है। कोचिंग लेने से तैयारी करने के लिए माहौल तो मिलता ही है साथ ही मोटिवेशन भी मिलता है। इसके अलावा सेल्फ स्टडी करना जरुरी है, इसके बिना सफलता मिलना मुश्किल है।


सिलेबस जरुर करें चैक


किसी भी तरह की तैयारी से पहले उसका सिलेबस जरुर देखें। सिलेबस के हिसाब से ही पढ़ाई का शेड्यूल बनाएं। सीमित किताबों के साथ तैयारी करे। पढ़ाई के साथ ही स्मार्ट स्टडी करें।