होम > यू.पी.एस.सी

सही दिशा में कड़ी मेहनत और बैलेंस से मिलती है यूपीएससी में सफलता

सही दिशा में कड़ी मेहनत और बैलेंस से मिलती है यूपीएससी में सफलता

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा में वैसे तो हजारों-लाखों छात्र बैठते हैं। मगर इस परीक्षा में शामिल हर छात्र को सफलता नहीं मिलती है। सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की जरुरत पड़ती है।

लाखों में से कुछ चुनिंदा छात्रों में से एक हैं झारखंड के रहने वाले उत्कर्ष, जिन्होंने यूपीएससी में सफलता हासिल की है। उन्होंने समाज में बदलाव लाने के उद्देश्य से 29 लाख रुपये के पैकेज छोड़कर यूपीएससी के लिए तैयारी करना शुरु किया। हालांकि उनके लिए यूपीएससी क्रैक करना आसान नहीं रहा।


उन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री के बाद तीन साल तक तैयारी की। इसके बाद वर्ष 2020 में उन्हें रैंक 55 हासिल हुई। मगर रैंक 55 हासिल करने के लिए उन्हें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा। 


बता दें कि उत्कर्ष मूल रूप से झारखंड के हजारीबाग के रहने वाले है। उनके पिता भी इंजीनियर हैं जबकि उनकी माता टीचर है। उन्होंने इंटरमीडिएट करने के बाद आईआईटी का एंट्रेंस क्लियर किया। आईआईटी बॉम्बे से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की।


इसके बाद उन्होंने मल्टीनेशनल कंपनी में सालाना 29 लाख रुपये के पैकेज पर नौकरी की। मगर कुछ सालों की नौकरी करने के बाद उन्होंने समाज में बदलाव लाने के लिए सिविल सेवा में जाने का फैसला किया। सिविल सेवा में जाने के लिए उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ी। इस फैसला में उनके परिवार का भी साथ उन्हें मिला।


बैलेंस बनाकर सफलता की हासिल


उन्होंने तीन वर्षों तक तैयारी की। उत्कर्ष ने ये सफलता दूसरे प्रयास में हासिल की है। यूपीएससी की तैयारी के लिए उन्होंने हर विषय की तैयारी एक साथ बैलेंस बनाकर की। हर सबजेक्ट की तैयारी के लिए उन्होंने बराबर समय दिया और तैयारी की। इसके लिए उन्होंने एक शेड्यूल भी बनाया।


उन्होंने तैयारी की शुरुआत से ही तय किया और हर विषय को बराबर समय दिया। हर विषय पर उन्होंने अपनी पकड़ मजबूत बनाई। वो अपने नोट्स बनाते रहे। इसके अलावा वो लगातार एग्जाम के दौरान आंसर देने के लिए प्रैक्टिस भी करते रहे।


ऐसे करें तैयारी


यूपीएससी की तैयारी करने के लिए जरुरी है कि एक मजबूत स्ट्रैटजी बनाई जाए। इसके साथ ही जरुरी है कि तैयारी करने के लिए अच्छी किताबों और स्टडी मैटीरियल के जरिए तैयारी करें। अगर सही दिशा में मेहनत करेंगे तो तैयारी करने में परेशानी नहीं होगी।