जवान दिखने के लिए इस देश में बच्चे को जन्म देने के बाद अपनी गर्भनाल खा जाती है मां

जवान दिखने के लिए इस देश में बच्चे को जन्म देने के बाद अपनी गर्भनाल खा जाती है मां

आपने चीन (China) के लोगों की कीड़े मकौड़े से लेकर चमगादड़ (Bats) तक का मांस खाते हुए विडियोज जरूर देखे होंगे। चीन के लोगों के अजीबगरीब खानपान (weird eating habits) से तो कुछ लोगों का यह भी मानना है कि कोरोना वायरस (corona virus) चीन के वुहान प्रांत की सीफूड मार्केट (seafood market in wuhan) से निकला। 

हालांकि, यह जांच का विषय है और इस पर बहस तो जारी है ही, लेकिन हम आपको बता रहे हैं चीन की एक ऐसी अजीबोगरीब परंपरा के बारे में जिसमें बच्चे को जन्म देने के बाद लोग मां की गर्भनाल खाते (Placenta eating) हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वहां के लोगों का मानना है कि प्लेसेंटा (Placenta) में काफी पोषक तत्व होते हैं,  जिस कारण वे इसे खाते हैं। इसे चीन में प्लेसेंटोफैगी (Placentophagy)  कहा जाता है। इसकी इतनी मांग है कि कई बार तो इनके अस्पताल से चोरी होने के मामले तक सामने आते हैं।

नवजात को जन्म देने के बाद मां अपनी गर्भनाल खुद खा जाती है। इसे काफी महंगे दाम पर बेचा जाता है। दवाइयों की तरह इसकी भी काफी डिमांड है। इसे दवा की तरह इस्तेमाल करने के लिए सुखाया जाता है और फिर सूप बनाकर पीया भी जाता है। 

इस जानकारी के बाद आपको जरूर अजीब लग रहा होगा, लेकिन चीन में यह इतना आम है कि इसे लगभग 1500 वर्षों से खाया जा रहा है। बताया जाता है कि गर्भनाल खाने से महिलाओं को तनाव नहीं होता है। साथ ही इससे वे जवान भी दिखती है। लोगों में विश्वास है कि इसे खाने से नपुंसकता का इलाज होता है। वहीं, आम लोगों में इसे खाने को लेकर इतनी उत्सुकता है, लेकिन डॉक्टर इसके फायदों की पुष्टि नहीं करते हैं। उनका कहना है कि इसमें खतरनाक वायरस (dangerous virus) हो सकते हैं और इसे खाना गंभीर बीमारियों को न्योता देने जैसा है।  

0Comments