होम > दुनिया

चीनी आक्रमण से ताइवान की हिफाज़त करेगा अमेरिका

चीनी आक्रमण से ताइवान की हिफाज़त करेगा अमेरिका

The Washington पोस्ट के मुताबिक, सीबीएस के "60 मिनट्स" के कार्यक्रम का हवाला देते हुए, चीनी आक्रमण की स्थिति में ताइवान की रक्षा करने के उठते सवालो के जवाब में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा कि अगर वास्तव में एक अभूतपूर्व हमला होता है तो अमेरिका ताइवान की रक्षा करेगा।

बिडेन ने कहा कि अमेरिकी सेना ताइवान को चीनी आक्रमण से बचाएगी। क्रॉस-स्ट्रेट संबंधों से संबंधित मुद्दे पर बिडेन का यह अब तक का सबसे स्पष्ट बयान था। 60 मिनट के कार्यक्रम में साक्षात्कारकर्ता स्कॉट पेले के पूछे गए सवाल पर की, अमेरिकी सेना - अमेरिकी पुरुष और महिलाएं - चीनी आक्रमण की स्थिति में ताइवान की रक्षा करेंगे? बिडेन ने सीधा जवाब दिया "हाँ"।
"60 मिनट" खंड ने गलती से कहा कि 1979 से अमेरिकी नीति ने ताइवान को चीन के हिस्से के रूप में मान्यता दी है।

संयुक्त राज्य अमेरिका की एक-चीन नीति के तहत, विभिन्न प्रशासनों के तहत अमेरिकी सरकार ने दशकों से ताइवान की संप्रभुता की स्थिति पर एक स्थिति लिए बिना बीजिंग के दृष्टिकोण को स्वीकार किया है। द वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, हाल ही में, बिडेन प्रशासन के एक अधिकारी ने मई में राष्ट्रपति बिडेन द्वारा की गई टिप्पणी की ओर इशारा किया, जब उन्होंने संवाददाताओं से कहा था कि ताइवान के प्रति रणनीतिक अस्पष्टता का अभ्यास बना हुआ है। उस समय, बिडेन ने यह नहीं कहा था कि वह देश की रक्षा के लिए ताइवान में अमेरिकी सैनिकों को भेजेंगे।