होम > दुनिया

दलाई लामा ने जगदीप धनखड़ को दी बधाई

दलाई लामा ने जगदीप धनखड़ को दी बधाई

तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने सोमवार को जगदीप धनखड़ को नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति चुने जाने पर बधाई दी। तिब्बती आध्यात्मिक नेता ने कहा की भारत 'अहिंसा' और 'करुणा' की भूमि है और ऐसे विचार मानवता के उत्थान में बहुत योगदान दे सकते हैं।

दलाई लामा ने धनखड़ को लिखे अपने पत्र में लिखा, आज, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय नेतृत्व की भूमिका के बारे में अधिक जागरूक हो रहा है। भारत सभी मानवता की शांति और विकास में योगदान दे सकता है। सार्वजनिक सेवा के आपके लंबे और समृद्ध अनुभव के साथ मुझे विश्वास है कि आप इस महान राष्ट्र और इसके लोगों की सफलतापूर्वक सेवा करने में सक्षम होंगे।

दलाई लामा ने भारत में मानसिक प्रशिक्षण की पारंपरिक तकनीकों की प्रशंसा की जिसमें योग और ध्यान भी शामिल हैं और कहा की यह अभी और भविष्य में सभी मनुष्यों को लाभान्वित कर सकते हैं। उन्होंने आगये कहा की,  "मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि प्राचीन भारत मन और भावनाओं की समझ का स्रोत है। साथ ही साथ ध्यान और योग जैसी मानसिक प्रशिक्षण की इसकी पारंपरिक तकनीक जो सभी मनुष्यों के लिए लाभकारी हो सकती है, दोनों अब और भविष्य की लिए।

इसी के साथ उन्होंने कहा, "भारत ज्ञान के इन दो आवश्यक निकायों को जोड़ने के लिए विशिष्ट रूप से अच्छी तरह से स्थित है। मुझे पता है कि इस तरह की पहल कई राज्यों में शुरू हो गई है, और मुझे बहुत उम्मीद है कि वे पूरे देश में विकसित होंगे।"