होम > दुनिया

तिब्बत सुरंग हिमस्खलन में मरने वालों की संख्या 20 हुई, आठ लापता

तिब्बत सुरंग हिमस्खलन में मरने वालों की संख्या 20 हुई, आठ लापता

तिब्बत में एक हिमस्खलन के बाद एक राजमार्ग सुरंग से जुड़े सड़क के एक हिस्से  पर गहरी बर्फ ने कई वाहनों को दफन कर दिया। इस दुर्घटना में बीस लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है और आठ एलपीजी अभी लापता लापता हैं।

चीन के सरकारी मीडिया में शुक्रवार को दिखाई गई तस्वीरों में बचाव कर्मियों को तिब्बत के दक्षिण-पश्चिम में न्यिंगची शहर को बाहरी मेडोग काउंटी से जोड़ने वाली एक सड़क और राजमार्ग सुरंग में हिमस्खलन के बाद दबे हुए वाहनों का पता लगाने के लिए गहरी बर्फ में मैकेनिकल डिगर से खुदाई करते हुए दिखाया गया है

सरकारी ग्लोबल टाइम्स न्यूज आउटलेट के मुताबिक मेनलिंग काउंटी में पाई गांव और मेडोग काउंटी में डॉक्सॉन्ग ला सुरंग के बीच सड़क के एक खंड पर मंगलवार को लगभग 8 बजे (12:00 GMT) हुए हिमस्खलन के बाद से अब तक 53 लोगों को बचाया गया है। सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने सूचना दी कि शुक्रवार तक 20 लोगों के मारे जाने की खबर थी और आठ अभी भी लापता हैं। बचे लोगों में से पांच गंभीर रूप से घायल हैं

एक स्थानीय ग्रामीण ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि दुर्घटना के समय सड़क पर यात्रा करने वालों में ज्यादातर तिब्बती लोग थे जो रविवार से शुरू होने वाले चंद्र नव वर्ष के लिए अपने गृहनगर लौट रहे थे।

बचावकर्मियों ने बताया कि सुरंग के मुहाने पर गिरने वाली कई टन बर्फ के भार के नीचे वाहन दब गए  जिससे चालक अपने वाहनों में फंस गए।

न्यिंगची लगभग 3,040 मीटर (9,974 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है और यह क्षेत्रीय राजधानी ल्हासा से लगभग पांच घंटे की ड्राइव पर 2018 में खोले गए एक राजमार्ग के किनारे स्थित है। सर्दियों के दौरान रात के समय तापमान नियमित रूप से हिमांक से नीचे चला जाता है।

चीनी अधिकारियों का कहना है कि लगभग 1,000 बचावकर्मी और दर्जनों आपातकालीन वाहन आपदा स्थल पर तैनात किए गए हैं।