होम > दुनिया

निकारागुआ में अमेरिकी दूत को 'प्रवेश नहीं' दिया जाएगा, उपराष्ट्रपति ने कहा

निकारागुआ में अमेरिकी दूत को 'प्रवेश नहीं' दिया जाएगा, उपराष्ट्रपति ने कहा

निकारागुआ की उपराष्ट्रपति रोसारियो मुरिलो ने फिर दोहराया कि उनका देश संयुक्त राज्य अमेरिका के नए राजदूत को उनके "हस्तक्षेपी" रवैये के कारण देश में प्रवेश करने की अनुमति नहीं देगा। उनका यह बयान दोनों देशों के बीच महीनों से जारी तनाव के बीच आया।

एएफपी समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, रोसारियो मुरिलो जो राष्ट्रपति डैनियल ओर्टेगा की पत्नी भी हैं, ने राज्य मीडिया पर विदेश कार्यालय के एक बयान को पढ़ते हुए, शुक्रवार को कहा,  "साम्राज्य वादियों को यह स्पष्ट होने दें कि ह्यूगो रोड्रिग्ज को किसी भी परिस्थिति में हमारे निकारागुआ में प्रवेश नहीं किया जाएगा।"

बावजूद इसके कि निकारागुआ ने जुलाई में कहा था कि वह इस नियुक्ति को अस्वीकार कर देगा, अमेरिकी सीनेट ने गुरुवार को राजदूत पद के लिए रोड्रिगेज के नामांकन की पुष्टि की।

यह राजनयिक लड़ाई तब शुरू हुई  जब बिडेन प्रशासन ने मध्य अमेरिकी राष्ट्र में विपक्षी राजनेताओं और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई को लेकर निकारागुआ राज्य के अधिकारियों और उनके रिश्तेदारों पर अमेरिकी वीजा प्रतिबंध सहित कई प्रतिबंध लगाए हैं।

ज्ञात रहे कि ओर्टेगा के नेतृत्व में नवंबर 2021में चुनाव से पहले एक व्यापक गिरफ्तारी अभियान  में विपक्षी नेताओं और राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों को लक्षित किया गया था  जिसने फलस्वरूप  राष्ट्रपति के रूप में लगातार चौथे कार्यकाल के लिए चुने गए। 

लेकिन यूरोपीय संघ सहित वाशिंगटन और उसके सहयोगियों ने इस चुनाव को "तमाशा" करार दिया। मानवाधिकार संगठनों ने भी कार्रवाई की निंदा की, जिसमें दर्जनों लोगों को गिरफ्तार किया गया और अक्सर लंबी जेल की सजा सुनाई गई तथा जिसने अनेकों विपक्षी नेताओं को देश छोड़कर जाने को विवश किया