होम > दुनिया

अफगानिस्तान में भुकमरी के आसार

अफगानिस्तान में भुकमरी के आसार

जब तक अमेरिका और अन्य सरकारे वैध आर्थिक गतिविधि और मानवीय सहायता की सुविधा के लिए देश के बैंकिंग क्षेत्र पर प्रतिबंधों में ढील नहीं देती तब तक अफगानिस्तान के मानवीय संकट को प्रभावी ढंग से संबोधित नहीं किया जा सकता है।

ह्यूमन राइट्स वॉच के एशिया एडवोकेसी निदेशक जॉन सिफ्टन ने कहा, "अफगानिस्तान की तीव्र भूख और स्वास्थ्य संकट अत्यावश्यक है और इसकी जड़ में एक बैंकिंग संकट है। तालिबान की स्थिति या बाहरी सरकारों के साथ विश्वसनीयता के बावजूद अंतरराष्ट्रीय आर्थिक प्रतिबंध अभी भी देश की तबाही को बढ़ा रहे हैं और अफगान लोगों को चोट पहुंचा रहा है।"

एक अफगान मानवीय अधिकारी ने जुलाई के मध्य में एचआरडब्ल्यू को बताया की, लोगों के पास खाने के लिए कुछ नहीं है। आप इसकी कल्पना नहीं कर सकते हैं, लेकिन बच्चे भूख से मर रहे है। इतना ही नहीं बल्कि स्थिति इससे भी जयादा विकट है, खासकर अगर आप गांवो में जा कर देखते है तो।" कुल मिलाकर, 90% से अधिक अफगान पिछले अगस्त से किसी किसी प्रकार की खाद्य असुरक्षा से पीड़ित है।

अफगान संस्थाओं के साथ बैंकिंग लेनदेन को लाइसेंस देने के लिए अमेरिका और अन्य द्वारा की गयी कार्रवाई के बावजूद भी अफगानिस्तान का केंद्रीय बैंक अपने विदेशी मुद्रा भंडार या अधिकांश अंतरराष्ट्रीय लेनदेन प्राप्त करने में असमर्थ है।