होम > दुनिया

ईरान ने शंघाई सहयोग संगठन में शामिल होने के लिए ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

ईरान ने शंघाई सहयोग संगठन में शामिल होने के लिए ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

ईरानी विदेश मंत्री ने कहा कि ईरान ने मध्य एशियाई सुरक्षा निकाय शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) का स्थायी सदस्य बनने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं

हुसैन अमीरबदुल्लाहियन ने सोशल मीडिया पर लिखा, "एससीओ की पूर्ण सदस्यता के लिए दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करके, अब ईरान ने विभिन्न आर्थिक, वाणिज्यिक, पारगमन और ऊर्जा सहयोग के एक नए चरण में प्रवेश किया है।"

यह बयान उस समय आया है जब चीन, भारत, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान के नेता आठ सदस्यीय एससीओ के शिखर सम्मेलन के लिए समरकंद में जमा हुए हैं बीजिंग और मास्को द्वारा सुरक्षा समूह एससीओ का गठन संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रभाव को काम करने के लिए किया गया है

समरकंद में एक बैठक के दौरान ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने अपने रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन से कहा, "ईरान, रूस या किसी भी अन्य देश, जिन अपर अमेरिका द्वारा प्रतिबन्ध लगाए गए हैं, के बीच सम्बन्ध  स्थापित होने से  बहुत सारी समस्याएं दूर हो जाएँगी और वे और भी मज़बूत होंगे।  उन्होंने आगे कहा, "अमेरिकियों को लगता है कि जिस भी देश पर वे प्रतिबंध लगाएंगे, उसे रोक लेंगे तो  उनकी यह धारणा गलत है।"

समरकंद के सिल्क रोड ओएसिस से रिपोर्ट करते हुए, अल जज़ीरा के रेसुल सेरदार ने कहा कि ईरान की पूर्ण सदस्यता अप्रैल 2023 में प्रभावी होने की उम्मीद है।