होम > दुनिया

राष्ट्रपति विक्रमसिंघे ने पीएम मोदी को किया धन्यवाद

राष्ट्रपति विक्रमसिंघे ने पीएम मोदी को किया धन्यवाद

श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने बुधवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। उन्होंने भारत को सम्बोदित करते हुए कहा की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संकटग्रस्त द्वीप राष्ट्र (श्रीलंका) को "जीवन की सांस" प्रदान हुई है। विक्रमसिंघे ने संसद के तीसरे सत्र के दौरान सरकार का नीतिगत बयान पेश करते हुए यह टिप्पणी की "मैं आर्थिक पुनरोद्धार के हमारे प्रयासों में, हमारे निकटतम पड़ोसी भारत द्वारा प्रदान की गई सहायता का विशेष रूप से उल्लेख करना चाहता हूं। भारत सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमें जीवन की सांस दी है। अपने लोगों की ओर से, मैं प्रधानमंत्री मोदी, सरकार और भारत के लोगों का आभार व्यक्त करता हूं।"

विक्रमसिंघे ने अपने संबोधन में देश को अपने आर्थिक संकट से निपटने में मदद करने के लिए एक सर्वदलीय सरकार के गठन को दोहराया। उन्होंने कहा कि वे अगले 25 वर्षों के लिए एक राष्ट्रीय आर्थिक नीति तैयार कर रहे हैं, जो एक सामाजिक बाजार आर्थिक प्रणाली की नींव रखती है, गरीब और वंचित समूहों के लिए विकास सुनिश्चित करती है और छोटे और मध्यम उद्यमियों को प्रोत्साहित करती है।

उन्होंने कहा की संसद को एकजुट होना चाहिए और मौजूदा संकट को दूर करने के लिए साथ मिल के प्रयास करना चाहिए। इस मुश्किल दौर में हममे विभाजित नहीं होना चाहिए। आगे उन्होंने कहा की कुछ राजनीतिक दल कोलंबो गजट के अनुसार, जिसने विर्क्रेमसिंघे का पूरा भाषण प्रकाशित किया था उन्होंने पहले ही सर्वदलीय में शामिल होने की इच्छा व्यक्त की है।

आपको बता दे की 2022 की शुरुआत के बाद से ही  श्रीलंका ने एक बढ़ते आर्थिक संकट का अनुभव किया है और सरकार ने अपने विदेशी ऋणों पर चूकी  है। संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि 5.7 मिलियन लोगों को तत्काल मानवीय सहायता की आवश्यकता है। इसी बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, भारत इसके तहत 'पड़ोस पहले' नीति को प्राथमिकता देते हुए, कर्ज में डूबे द्वीप देश की मदद के लिए हमेशा आगे आई है। हाल ही में, भारत ने पिछले 10 वर्षों में श्रीलंका को 8 लाइन ऑफ क्रेडिट (LOCs) प्रदान किए हैं, जिसकी राशि 1,850.64 मिलियन अमेरिकी डॉलर है।