होम > दुनिया

यूक्रेन के चार क्षेत्रों में जनमत संग्रह कराने के बाद पुतिन ने रूस में किया शामिल

यूक्रेन के चार क्षेत्रों में जनमत संग्रह कराने के बाद पुतिन ने रूस में किया शामिल

रूस ने यूक्रेन के चार हिस्सों में रेफरेंडम कराकर इन क्षेत्रों को रूस में शामिल कर लिया, ये क्षेत्र लुहांस्क, डोनेट्स्क, जपोरिजिया तथा खेरसॉन हैं, राष्ट्रपति पुतिन ने मास्कों में इन चारों राज्यों के प्रतिनिधियों के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये।

शुक्रवार को क्रेमलिन में इस अवसर को एक विशेष दिन की तरह सेलिब्रेट किया गया, पुतिन ने कहा यह यहाँ के निवासियों की इच्छा और हक़ था, जनमत संग्रह के बाद ही इन इलाकों को रूस में मिलाया गया है, यूक्रेन के इन हिस्सों को रूस में मिलाने का अर्थ यह होगा कि अब इन क्षेत्रों पर हमला रूस पर हमला माना जायेगा।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने अपने भाषण में कहा कि यूक्रेन 2014 के समझौतों की शर्तों को माने तथा युद्ध को रोककर बातचीत की शुरुआत करे, रूस अपनी सीमा की रक्षा के लिए कोई भी कदम उठा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं होना चाहिए, अगर यूक्रेन का कोई हिस्सा रूस में शामिल होना चाहेगा तो हम उसे धोखा नहीं देंगे, कोई देश कुछ भी कहे इन चार क्षेत्रों ने बता दिया है कि वे रूस में शामिल होना चाहते है यूक्रेन इसका सम्मान करे क्योकि इससे ही शांति स्थापित होगी।


रूस में शामिल हुए ये चारों क्षेत्र काफी महत्वपूर्ण माने जाते हैं, लुहांस्क काला सागर के उत्तरी किनारे पर रूस से सीमा साझा करता है और यहाँ पर कोयले का भंडार है, डोनेट्स्क एक औद्योगिक इलाका है इस इलाके में कई ज्वालामुखी है तथा कई लावा के ढेर हैं यह स्टील के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, जपोरिजिया  क्रीमिया से 200 किलोमीटर दूर है यह एनर्जी तथा न्यूक्लियर पावर के लिए जाना जाता है, खेरसॉन पोर्ट रणनीति के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।