होम > दुनिया

रूसी पत्रकार ने यूक्रेनी बच्चों की मदद के लिए नोबेल पुरस्कार बेचा

रूसी पत्रकार ने यूक्रेनी बच्चों की मदद के लिए  नोबेल पुरस्कार बेचा

सोमवार को हेरिटेज ऑक्शन द्वारा न्यूयॉर्क में आयोजित एक नीलामी कार्यक्रम में रूसी स्वतंत्र समाचार पत्र नोवाया गजेटा के प्रधान संपादक दिमित्री मुरातोव ने अपने नोबल शांति स्वर्ण पदक पुरस्कार की नीलामी की। इस नीलामी द्वारा उनका उद्देश्य यूक्रेन में युद्ध से विस्थापित बच्चों को लाभान्वित करना था।

 मुरातोव का पदक व्यक्तिगत और ऑनलाइन दोनों ही प्रकार से बोली लगाने वालों के लिए उपलब्ध था। फ़ोन पर 103.5 मिलियन डॉलर की बोली लगाकर इस शांति स्वर्ण पदक पुरस्कार को खरीदने वाले व्यक्ति की पहचान नहीं हो सकी है। 

 मुरातोव ने 2021 में फिलीपींस की पत्रकार मारिया रेस्सा के साथ यह पुरस्कार जीता था। "अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के उनके प्रयास" के लिए समिति ने उन्हें उन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया था।

 वे पत्रकारों के उस  समूह के एक सक्रिय  सदस्य थे जिसने  सोवियत संघ के विघटन  के बाद 1993 में नोवाया गेज़ेटा की स्थापना की थी। फिलहाल  रूस में येह अकेला अखबार रह गया है जिसने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और देश के अंदर और बाहर उनकी रणनीति की आलोचना की।

 वर्ष 2000 के बाद से, खोजी रिपोर्टर अन्ना पोलितकोवस्काया सहित  नोवोया गजेटा के 6 पत्रकार और सहयोगियों की उनके काम के कारण हत्या की जा चुकी  हैं।

 मुरातोव ने अपने पुरस्कार को उनकी याद में समर्पित किया हैं।