होम > दुनिया

फिनलैंड में बिगड़ी कोरोना की स्थिति, सीमा पर बढ़ी सख्ती

फिनलैंड में बिगड़ी कोरोना की स्थिति, सीमा पर बढ़ी सख्ती

हेलसिंकी| फिनलैंड में एक बार फिर से कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति बिगड़ने लगी है। फिनलैंड में कोरोना के मामले बढ़ने पर सीमा पर स्वास्थ्य सुरक्षा उपायों और रेस्तरां के खुलने पर नियमों में बदलाव किए हैं। स्थानीय न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, बीते दो हफ्तों में, फिनलैंड में 237 नए कोरोनोवायरस मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि अक्टूबर के मध्य में 133 मामले दर्ज किए गए थे।


बीते हफ्ते में कोरोना के 7,200 नए मामले सामने आए और पिछले तीन हफ्तों में गहन देखभाल ईकाई में संक्रमितों की संख्या लगभग तीन गुना हो गई है।


गुरुवार को यहां मीडिया को संबोधित करते हुए, परिवार मामलों और सामाजिक सेवाओं के मंत्री क्रिस्टा किउरु ने कहा कि कोरोना संक्रमितों के लिए गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) में सिर्फ एक बेड खाली है।


उन्होंने कहा कि सभी संक्रमितों का इलाज किया गया जाएगा, लेकिन आईसीयू क्षमता विस्तार के लिए समय लगेगा।


फिनलैंड ने सितंबर से प्रतिबंधों में ढील देना शुरू किया था क्योंकि देश में 80 प्रतिशत टीकाकरण दर से सामान्य स्थिति में वापसी की संभावना बढ़ गई थी।


हालांकि, अब बगैर टीका लगवाए लोगों में कोरोना वायरस फैलने लगा है।


हाल के हफ्तों में खानपान उद्योग और यूनियनों दोनों के विरोध के बावजूद, गठबंधन दलों ने गुरुवार को रेस्तरां के खुलने के घंटों में भारी कटौती करने का फैसला किया।


किउरु ने पत्रकारों से कहा कि हेलसिंकी में रेस्तरां और बार को शाम छह बजे के बाद बंद करना होगा और शाम 5 बजे तक शराब की बिक्री समाप्त करनी होगी।


प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार के वरिष्ठ सलाहकार इस्मो तुओमिनेन ने कहा कि नए नियम रविवार से लागू हो जाएंगे।


देश की सीमाओं पर, बिना टीकाकरण वाले यात्रियों के आगमन पर कोरोना टेस्ट जारी रहेगा और बाद में उन्हें दूसरे टेस्ट से गुजरना होगा।


फिनलैंड की 81 प्रतिशत से ज्यादा आबादी को पहले ही कोरोनावायरस के खिलाफ पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है। 4.2 प्रतिशत को बूस्टर खुराक दी गई है।


फिनलैंड अब आबादी के एक बड़े हिस्से के लिए बूस्टर खुराक अधिकृत करने और नए यूरोपीय नियमों के तहत 5 से 11 साल के बच्चों का टीकाकरण शुरू करने की तैयारी कर रहा है।