होम > दुनिया

ओमिक्रॉन पर इजरायली वैज्ञानिक ने दी जानकारी, कहा वेरिएंट अधिक संक्रामक मगर डेल्टा से कम खतरनाक

ओमिक्रॉन पर इजरायली वैज्ञानिक ने दी जानकारी, कहा वेरिएंट अधिक संक्रामक मगर डेल्टा से कम खतरनाक

यरूशलेम| इजराइक के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस संक्रमण के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर नई स्टडी के जरिए जानकारी दी है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट खतरनाक नहीं है। मगर ये जल्दी फैलने वाला वायरस है, जिससे अधिक डरने की आवश्यकता नहीं है। 


अपने स्पाइक प्रोटीन पर 30 से अधिक उत्परिवर्तन के साथ ओमिक्रॉन वेरिएंट के बारे में कहा गया कि ये डेल्टा, अल्फा और कोरोना वायरस के अन्य वेरिएंटों के रूप में खतरनाक नहीं है। अन्य वेरिएंट के कारण अब तक दुनिया भर में पांच मिलियन से अधिक लोगों की जान ली है। हालांकि, वेरिएंट अधिक संक्रामक प्रतीत होता है। इजराइल में हदासाह-हिब्रू यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर के एक वैज्ञानिक ने इसकी जानकारी दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, ओमिक्रॉन लगभग 38 देशों में फैल गया है, लेकिन अभी तक किसी की मौत नहीं हुई है।


एक वरिष्ठ प्रोफेसर और चिकित्सक ड्रोर मेवोराच को यरूशलेम पोस्ट को यह कहते हुए उद्धृत किया गया था, "हमें बहुत सावधानी के साथ रहना है, लेकिन अगर हम वर्तमान में उपलब्ध जानकारी को देखें, तो यह मानने का कारण है कि वेरिएंट तेजी से फैल रहा है, लेकिन शायद यह इतना खतरनाक नहीं है।"


दक्षिण अफ्रीका के तशवाने डिस्ट्रिक्ट ओमिक्रॉन वेरिएंट पेशेंट प्रोफाइल ने दिखाया कि पिछले दो हफ्तों में अस्पताल में भर्ती होने वाले 80 प्रतिशत लोग 50 वर्ष से कम आयु के लोग थे, जिनमें से अधिकांश को ऑक्सीजन समर्थन की आवश्यकता नहीं थी।


मेवोराच ने कहा, इसे कई तरीकों से समझाया जा सकता है, जिसमें रोगियों की कम उम्र भी शामिल है, या यह कि ओमिक्रॉन वेरिएंट का कोर्स हल्का है।


कुछ विशेषज्ञों ने यह भी सुझाव दिया है कि यदि ओमिक्रॉन अधिक संक्रामक लेकिन हल्का है, तो यह कोरोना को फ्लू के समान बना सकता है।


मेवोराच ने यह कहते हुए सहमति व्यक्त की कि "यह वास्तव में दुनिया के लिए अच्छी खबर होगी। मुझे लगता है कि हमें टीकाकरण वाले लोगों के संक्रमित होने के संकेत मिले हैं, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि उनकी बीमारी हल्की है।"


अगर ऐसा है, तो उन्होंने कहा कि अलग-अलग परि²श्य सामने आ सकते हैं।


उन्होंने कहा, "हमें यह स्वीकार करने की आवश्यकता हो सकती है कि कुछ लोग बीमार होने जा रहे हैं और उनका इलाज एंटीवायरल उपचार के साथ करें जो उपलब्ध होने वाले हैं, या टीकों को अधिक प्रभावी होने के लिए थोड़ा सा बदलाव किया जा सकता है। हालांकि, मुझे वास्तव में यकीन नहीं है कि हमें इसे करने की आवश्यकता होगी। पहला विकल्प काफी अच्छा हो सकता है।"


रिपोर्ट में कहा गया है कि मेवोराच ने यह भी आशा व्यक्त की कि बूस्टर द्वारा दी गई सुरक्षा लंबे समय तक चलेगी।


उन्होंने कहा, "मैंने इम्यूनोलॉजिकल अध्ययनों में जो देखा है वह यह है कि बूस्टर वास्तव में एंटीबॉडी को बढ़ाता है, और मुझे लगता है कि यह लंबे समय तक चलने वाली प्रतिरक्षा देगा।"


इस बीच, इजरायल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इजराइल में ओमिक्रॉन कोविड-19 वेरिएंट के मामलों की संख्या सात से बढ़कर 11 हो गई है।