होम > दुनिया

पाकिस्तान में समय से होगा चुनाव, छह घंटे चली बैठक के बाद हुआ फैसला

पाकिस्तान में समय से होगा चुनाव, छह घंटे चली बैठक के बाद हुआ फैसला

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने लंदन में अपने बड़े भाई और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की। इस दौरान एक बैठक भी की गई जिसमें पाकिस्तान सरकार के संबंध में महत्वपूर्ण फैसला लिया गया।


इस दौरान पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की लंदन में हुई बैठक में यह तय किया गया है कि वहां समय से पहले चुनाव नहीं कराये जायेंगे और मौजूदा सरकार वहां की जनता को आर्थिक राहत देने पर ध्यान देगी।


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम औरंगजेब और पार्टी के कई वरिष्ठ नेता पीएमएलएल सुप्रीमो से मिलने लंदन आये हैं।


यहां छह घंटे से अधिक समय तक बैठक चली, जिसमें कई मसलों पर चर्चा हुई।


बैठक में नवाज शरीफ ने पार्टी नेताओं से समय से पहले चुनाव कराने जैसे तमाम मुद्दों पर उनकी राय मांगी। बैठक में शामिल सभी लोग इस बात पर सहमत हुये कि पाकिस्तान में समय से पहले चुनाव नहीं कराये जायें और मौजूदा सरकार के पास तब तक जो समय है, उस दौरान आर्थिक पहलू पर ध्यान दिया जाये।


बैठक में फैसला किया गया कि गठबंधन में शामिल अन्य दलों के परामर्शन करने के बाद ही अगले चुनाव की घोषणा की जाये।


पाकिस्तान की सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब ने कहा कि प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और पार्टी के नेताओं ने नवाज शरीफ को पाकिस्तान की सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्थिति की पूरी रिपोर्ट सौंपी।


उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान देश को गंभीर आर्थिक हालात में डाल कर गये हैं। पूर्व की सरकार की नीतियों के कारण जनता को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।


उन्होंने बताया कि बैठक में आईएएमएफ की शर्तो पर चर्चा हुई कि किस तरह उसकी वजह से पाकिस्तान के लोग प्रभावित हैं।


मरियम औरंगजेब से पूछा गया कि यह बैठक लंदन में क्यों हुई। इसे वर्चुअली क्यों नहीं किया गया। इस पर उन्होंने कहा कि यह बैठक कोई आश्चर्य की बात नहीं है। प्रधानमंत्री और शहबाज शरीफ के बीच यह बैठक बहुत समय से होनी थी। नवाज शरीफ हमारे कायद हैं। हमें पाकिस्तान की पूरी स्थिति की समीक्षा करनी होगी और फिर योजना बनानी है। यह एक निजी प्रतिनिधिमंडल था।


उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार जनता को राहत देने के लिये है। नवाज शरीफ को पाकिस्तान को आर्थिक संकट से निकालने के लिये जाना जाता है। सिर्फ हमारी पार्टी के पास सही रणनीति है।