होम > दुनिया

पाकिस्तान जाने वाले यात्रियों को देना होगा खास ध्यान, करानी होगी ये जांच

पाकिस्तान जाने वाले यात्रियों को देना होगा खास ध्यान, करानी होगी ये जांच

पाकिस्तान जाने वाले यात्रियों के लिए अहम खबर है। फ्लाइट के जरिए पाकिस्तान जाने वाले यात्रियों को अब एक अहम टेस्ट से गुजरना होगा। दरअसल पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान (एनआईएच) ने रविवार को वैश्विक कोरोनावायरस स्थिति के मद्देनजर देशभर के अंतराष्ट्रीय हवाईअड्डों पर आने वाले यात्रियों के चल रहे रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) के दायरे को बढ़ाने का फैसला किया है।


राष्ट्रीय कमान और संचालन केंद्र (एनसीओसी) के औपचारिक रूप से बंद होने के बाद पाकिस्तान की कोविड-19 प्रतिक्रिया का नेतृत्व कर रहे संस्थान ने सिलसिलेवार ट्वीटों में कहा कि निगरानी के उपाय के रूप में आरएटी को रैंडम आधार पर आयोजित किया जा रहा था।


संस्थान ने कहा, कोविड-19 की हालिया वैश्विक स्थिति की समीक्षा करने के बाद और संघीय स्वास्थ्य मंत्री, सीडीसी, एनआईएच के निर्देश ने सीएचई (केंद्रीय स्वास्थ्य प्रतिष्ठान) को अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों पर मौजूदा चल रहे आरएटी के दायरे को विभिन्न देशों के यात्रियों के लिए व्यवस्थित रूप से बढ़ाने की सलाह दी है।


एनआईएच ने कहा कि निर्णय का मुख्य उद्देश्य किसी भी संक्रमित मामले का तेजी से पता लगाने के लिए सतर्क रहना और प्रवेश बिंदुओं पर निगरानी करना है।


शनिवार को कराची, लाहौर और इस्लामाबाद हवाईअड्डों पर खाड़ी देशों और सऊदी अरब से आने वाले यात्रियों की रैंडम स्क्रीनिंग शुरू हुई। नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) के अनुसार, खाड़ी देशों और सऊदी अरब से आने वाली सभी उड़ानों के लिए अब तीन हवाईअड्डों पर आरएटी का संचालन किया जाएगा।


सीएए के प्रवक्ता ने कहा कि शुरुआत में 150 सीटों वाले विमानों पर पहुंचने वाले 10 से 15 यात्रियों और 250 सीटों की न्यूनतम क्षमता वाले विमान पर पहुंचने वाले 15 से 20 यात्रियों का रैपिड एंटीजन परीक्षण किया जाएगा।