दुनिया

उत्तर कोरिया ने रूस का दिया साथ

रूस और यूक्रेन के बीच जंग पिछले 18 महीनों से जारी है अभी तक इस जंग का कोई नतीजा नही निकला है और अभी हाल फिलहाल ऐसा कुछ लग भी नही रहा है कि जिससे ये जंग रुक जाएगा। इसी बीच उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने गुरुवार को रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू से मुलाकात की। दोनों देशों के नेताओं के बीच सैन्य मसलों और सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई। उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया KCNA ने बताया कि किम ने रूसी रक्षा मंत्री को विक्ट्री डे पर बतौर मेहमान आमंत्रित किया है। कोरियन वॉर एनिवर्सरी को नॉर्थ कोरिया में विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है।

ऐग्जीबिशन से पहले दोनों देशों के बीच डेलिगेशन लेवल की बातचीत भी हुई। इसमें उत्तर कोरिया के रक्षा मंत्री कैंग सुन नैम शामिल हुए। उन्होंने यूक्रेन में चल रहे रूसी मिलिट्री के ऑपरेशन को देश की सुरक्षा के लिए सही बताया। KCNA के मुताबिक, कैंग ने कहा कि उन्हें इस बात में कोई शक नहीं है कि पुतिन की लीडरशिप में रूस और मजबूत देश बनेगा। उन्होंने कहा कि इस यात्रा के साथ दोनों देशों के बीच सैन्य और परंपरागत रिश्ते बेहतर हुए हैं। क्षेत्रीय सुरक्षा, आपसी हितों और वैश्विक शांति पर मैंने अपने विचार भी साझा किए।

याद रहे कि चीन का भी एक डेलिगेशन इस मौके पर उत्तर कोरिया पहुंचा है। उत्तर कोरिया में गुरुवार को डिफेंस ऐग्जिबिशन हुई, जिसमें उन बैलिस्टिक मिसाइलों को भी शामिल किया गया, जिसकी टेस्टिंग को लेकर नॉर्थ कोरिया पर बैन लगा हुआ है। इसके बाद रक्षा मंत्री शोइगू ने भी स्पीच दी। उन्होंने कहा कि नॉर्थ कोरिया की आर्मी दुनिया की सबसे ताकतवर आर्मी बन गई है।

जानकारी के लिए आपको बता दे कि यह पहली बार कि जब से सोवियत यूनियन के टूटने के बाद कोई रूसी रक्षा मंत्री उत्तर कोरिया पहुंचा है। उत्तर कोरिया में कोरोना पाबंदियां हटने के बाद ये पहला मौका, जब कोई विदेशी डेलिगेशन प्योंगयांग पहुंचा। KCNA के मुताबिक, शोइगू ने किम जोंग को राष्ट्रपति पुतिन का एक लेटर भी सौंपा। इसके बाद किम ने मिलिट्री डेलिगेशन भेजने के लिए पुतिन को धन्यवाद दिया।

read more… World Nature Conservation Day 2023 विकास करती हुई दुनिया के आगे वन्य जीवन और प्रकृति दोनों खतरे में

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button