भारतदुनिया

अब चीन को G20 की थीम ‘वसुधैव कुटुंबकम’ से भी परेशानी, जताया विरोध

भारत इस वर्ष G20 की अध्यक्षता कर रहा है जिसकी बैठके देश के विभिन्न शहरों में चल रही हैं तथा इस बार G20 की थीम ‘वसुधैव कुटुंबकम’ (पूरी दुनिया एक परिवार है) को पूरे विश्व में सराहा गया है लेकिन चीन को इससे भी दिक्कत है जिसके कारण चीन ने पिछले महीने ऊर्जा मंत्रियों की बैठक के दौरान भारत की थीम ‘वसुधैव कुटुंबकम’ का विरोध किया।

क्या कहा गया चीन की तरफ से

चीन की तरफ से ‘वसुधैव कुटुंबकम’ के विरोध में कहा गया कि यह संस्कृत में लिखा गया है जबकि संस्कृत संयुक्त राष्ट्र की मान्यता प्राप्त भाषा नहीं है इसी कारण चीन ने इस पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है, भारत की तरफ से इस पर प्रतिक्रिया देते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि जी20 की थीम “एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य” सभ्यता के लोकाचार वसुधैव कुटुंबकम पर आधारित है, जिसे व्यापक समर्थन मिला है और जी20 के लोगो में इसकी झलक दिखती है।

ज्यादातर देश भारत के साथ

चीन के विरोध के बावजूद ज्यादातर सदस्य देश भारत के पक्ष में हैं तथा आयोजन कर्ता का यह विशेषाधिकार होता है कि वह इसका विषय तथा थींम खुद तय करे, फ़िलहाल भारत ने पहले ही इस थीम का अनुवाद ‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’ तय कर लिया है जो इसके साथ ही प्रयोग किया जा रहा है तथा यह कार्यकम से संबंधित कागजो पर तथा लेटरहेड पर लिखा गया है।

वसुधैव कुटुम्बकम का क्या अर्थ है?

“वसुधैव कुटुम्बकम” एक प्राचीन संस्कृत कहावत है, जिसका अर्थ होता है “सारा विश्व एक परिवार है” या “संपूर्ण मानवता एक ही परिवार है”। इसका मतलब होता है कि सभी मनुष्य एक बड़े परिवार के सदस्य हैं और हमें एक-दूसरे के साथ बंधुत्व और सहयोग की भावना रखनी चाहिए। यह भावना विश्वशांति, सामर्थ्य और समरसता को प्रोत्साहित करने का संकेत होता है।

Read more…रूस ने आईफोन को लेकर उठाया बड़ा कदम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button