दुनियाभारतशेयर बाजार

अब श्रीलंका में भी भारत का UPI दोड़ेगा

पूरी दुनिया जानती है कि जब श्रीलंका संकट से गुजर रहा था तब भारत ने सबसे ज्यादा मदद की थी अब भारत आते ही श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने भारत सरकार और यहां के लोगों ने धन्यवाद दिया है। श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे 2 दिन के दौरे पर भारत आए हैं। आज उन्होंने PM नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय और डेलीगेशन लेवल की बातचीत हुई। इस दौरान श्रीलंका में UPI के इस्तेमाल को लेकर समझौता हुआ। विक्रमसिंघे ने कहा- PM मोदी के नेतृत्व में भारत लगातार तरक्की कर रहा है।

श्रीलंका के रिश्तों पर बात करते हुए PM मोदी ने कहा कि हमारे संबंध प्राचीन और व्यापक

भारत और श्रीलंका के रिश्तों पर बात करते हुए PM मोदी ने कहा कि हमारे संबंध प्राचीन और व्यापक हैं। श्रीलंका और भारत के बीच हवाई कनेक्टिविटी बढ़ाई जाएगी। पैसेंजर फेरी सर्विस शुरु होंगी। इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड पर काम होगा। भारत के प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछला 1 साल श्रीलंका के लिए चुनौतियों से भरा रहा। हम कठिन समय में वहां के लोगों के साथ खड़े रहेंगे। हमें उम्मीद है कि श्रीलंका की सरकार तमिलों की आकांक्षाओं को पूरा करके समानता, न्याय और शांति के प्रोसेस को आगे बढ़ाएगी। भारत की ‘नेबरहुड फर्स्ट’ नीति और ‘SAGAR’ विजन दोनों में श्रीलंका का महत्वपूर्ण स्थान है।

भारतीय रुपए का इस्तेमाल कॉमन करेंसी के रूप में होगा तो इससे हमें कोई ऐतराज नहीं – श्रीलंका 

भारत दौरे से पहले राष्ट्रपति रानिल विक्रमसंघे ने कहा था कि श्रीलंका भारतीय रुपए का भी उतना ही इस्तेमाल होते देखना चाहता है जितना अमेरिकी डॉलर का होता है। उन्होंने कहा था अगर रुपए का इस्तेमाल कॉमन करेंसी के रूप में होगा तो इससे हमें कोई ऐतराज नहीं है। हमें ये देखना पड़ेगा कि इसके बाद हमें क्या जरूरी बदलाव करने होंगे। श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने जैसे जापान, कोरिया और चीन सहित पूर्वी एशिया के देशों में 75 साल पहले बड़े पैमाने पर विकास हुआ, वैसे ही अब भारत और हिन्द महासागर के क्षेत्र की बारी है। दुनिया विकसित हो रही है और प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत में भी तेजी से विकास हो रहा है।

read more… दक्षिण अफ्रीका में होने वाली ब्रिक्स मीटिंग में शामिल नहीं होंगे पुतिन, आखिर क्या है कारण आइये जाने

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button