Breaking News

सेवानिवृत्त कार्मिकों के लम्बित प्रकरण के त्वरित निस्तारण हेतु 28 अगस्त को ‘‘समाधान दिवस’’ का आयोजन

उत्तर प्रदेश के खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री राकेश सचान ने कहा कि खादी एवं ग्रामोद्योग बहुत ही महत्वपूर्ण विभाग है। यह सीधे ग्रामीण अर्थव्यवस्था से जुड़ा है और ग्राम वासियों के लिए स्वरोजगार का सबसे सशक्त माध्यम भी है। इसलिए संचालित योजनाओं को लाभ अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक अवश्य पहुंचना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु पर्याप्त बजट की व्यवस्था की गई। बजट का शत-प्रतिशत सदुपयोग सुनिश्चित किया जाये। बजट सरेंडर होने की दशा संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

मंत्री राकेश सचान ने यह निर्देश आज खादी भवन में विभागीय कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में खादी परिधानों को माडर्न लुक देने की आवश्यकता है। इसके लिए बुनकरों को निफ्ट के माध्यम से एक माह का प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है।

उन्होंने निर्देश दिये कि प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके बुनकरों का फालोअप किया जाये और यह सुनिश्चित किया जाये कि उनके द्वारा जो प्रशिक्षण प्राप्त किया गया है, उसका लाभ बुनकरों मिले। साथ ही सभी प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके बुनकरों की कार्याशाला का भी आयोजन किया जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि खादी परिधानों को बढ़ावा देने के लिए शोध कराया जाये और नई-नई डिजाइन के वस्त्र तैयार कराने में खादी संस्थाओं की मदद की जाय। उन्होंने कहा कि खादी में नई डिजाइन आने से खादी उत्पादों के प्रति लोगों का आकर्षण बढ़ेगा और बिक्री भी ज्यादा होगी।

खादी मंत्री ने कहा कि दीपावली के अवसर पर आयोजित होने वाली प्रदर्शनी/मेले की तैयारियां अभी से शुरू कर दी जायें। इस बार दशहरा से लेकर दीपावली तक खादी एवं माटीकला की प्रदर्शनी का आयोजन कराया जाये। इससे कारीगरोें को अपने उत्पादों की बिक्री के लिए और अधिक अवसर उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि खादी को बढ़ावा देने के लिए पूर्व की भांति इस वर्ष भी खादी फैशन-शो का आयोजन कराया जाये। उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्त हो चुके कार्मिकों के पेंशन एवं अन्य देयकों आदि से संबंधित लम्बित प्रकरण के त्वरित निस्तारण हेतु मुख्य कार्यपालक अधिकारी की अध्यक्षता में आगामी 28 अगस्त को ‘‘समाधान दिवस’’ आयोजित किया जाय।

बैठक में खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरूण प्रकाश सहित वरिष्ठ विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button