Breaking Newsभारतसेहत और स्वास्थ्य

तेजी से फैल रहा है आई फ्लू का प्रकोप, इससे बचने के लिए अपनाएं ये तरीके।

Table of Contents

तेजी से बढ़ रहे आई फ्लू से बच्चों को भी खतरा…जानिए बच्चों के इससे कैसे सुरक्षित रखें

देशभर में आई इंफेक्शन के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। आपके बच्चे भी इस संक्रमण के चपेट में आ सकते हैं। ऐसे में आप इन टिप्स की मदद से बच्चों को सुरक्षित रख सकते हैं। आई फ्लू हर उम्र के लोगों को प्रभावित कर रहा है। ऐसे में जरूरी है कि इस संक्रमण से छोटे बच्चों को बचाये। क्योंकि बच्चों की इम्युनिटी काफी कमजोर होती है और फ्लू जैसी तेजी से फैलने वाली समस्याएं इन्हें आसानी से हो सकती है। आई फ्लू होने पर आंखें लाल हो जाती हैं, खुजली की समस्या होती है, और आंखों से पानी बहता है। इस आर्टिकल में हम आपको बच्चों को इस समस्या से बचाने के लिए कुछ उपाय बताएंगे।

The Flu in Babies and Toddlers — Symptoms, Treatments and Prevention of  Influenza

आई फ्लू से बचाव के उपाय

1. स्वच्छता और हाथों का ध्यान

बच्चों को हमेशा स्वच्छ रखें। सकारात्मक हाथ धोने के आदत डालें।
बच्चों को समझाएं कि हाथों को बार-बार धोने और सैनिटाइज करने से इंफेक्शन से बचा जा सकता है।
स्कूल से वापस आने पर और खेलने के बाद, हाथों को साबुन या हैंड वॉश से धोएं।
हर थोड़ी देर में बच्चों के हाथों को सैनिटाइज करने का सुझाव दें।

2. संक्रमित व्यक्ति से दूरी

बच्चे को समझाएं कि यदि कोई व्यक्ति आई फ्लू से प्रभावित है, तो उनसे दूर रहें।
संक्रमित व्यक्ति और उनके सामान को छूने से बचें। बच्चे को इस बारे में जागरूक करें।

3. संतुलित आहार

अपने बच्चे को संतुलित आहार दें। फल और सब्जियां शामिल करें।
हेल्दी फूड्स को डायट में शामिल करने का प्रयास

4. बाहर न जाएं

इस मौसम में बच्चों को बाहर भीड़ में खेलने से रोकें।
बच्चों को पब्लिक स्विमिंग पूल में नहीं जाने दें।

Tomato flu risk higher among young children, warns new study. Check  symptoms, details here | Mint

5. साफ-सफाई का ध्यान

बच्चे के आसपास के सामान और जगहों साफ रखे और उन्हें बार-बार डिसइनफेक्ट करें।

बच्चों को बारिशी मौसम में भी अपने घर के अंदर ही रखें। उन्हें कमरे के भीतर खेलने दें।
यदि आपके घर के आस-पास आई फ्लू के मामले बढ़ रहे हैं, तो बच्चों को सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचाएं। ऐसे स्थानों में इंफेक्शन का खतरा ज्यादा होता है।
संक्रमण होने पर क्या करें?
यदि बच्चे को आई फ्लू के लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो उन्हें दुसरो से थोड़ा अलग रखे और उनके सामान को अलग रखें।
डॉक्टर की सलाह लें और उनके दिए गए दवाओं का उपयोग करें।
बच्चे को बहुत सा पानी पिलाएं और उन्हें आराम करने का मौका दें।
आंखों को गिला रखने के लिए गरम पानी से भरा हुआ तौलिया इस्तेमाल करें।
बच्चे को गरम खाना और दूध न दें, क्योंकि ये उनके गले में दर्द का कारण बन सकते हैं।
नए जन्में बच्चों के लिए ख़ास सावधानियां
नए जन्में बच्चों की इम्युनिटी बहुत कमजोर होती है, इसलिए उन्हें खास सावधानियां बरतनी चाहिए।
उन्हें इंफेक्शन से दूर रखने के लिए घर के अंदर ही रखें और उनके संपर्क में आने वाले लोगों को भी सतर्क रहने के लिए कहें।
नए जन्में बच्चों को माँ के दूध से पूरा पोषण मिलता है, इसलिए माँ को अपने आहार पर भी ध्यान देना चाहिए।

पुर्तगाली संसद ने 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए इच्छामृत्यु को वैध  बनाया - Medhaj News: ताजा हिंदी समाचार | Breaking News in Hindi | Latest  Hindi News

समाप्ति

इस आर्टिकल में हमने आई फ्लू से बच्चों को सुरक्षित रखने के उपायों के बारे में चर्चा की है। आई फ्लू एक आम समस्या है, लेकिन इससे बचाव के लिए आपको खास ध्यान रखना आवश्यक है। आप उपरोक्त उपायों का पालन करके अपने बच्चों को संक्रमण से बचा सकते हैं। याद रखें कि इन उपायों को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

क्या आई फ्लू से प्रभावित बच्चे को स्कूल भेज सकते हैं?

नहीं, इस स्थिति में आपको बच्चे को स्कूल नहीं भेजना चाहिए। उन्हें घ र के अंदर ही रखें और उनके सम्पर्क में आने वाले लोगों को भी सतर्क रहने के लिए कहें। यदि आपके बच्चे को आई फ्लू के लक्षण दिखाई देते हैं तो उन्हें तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।

क्या आई फ्लू से बच्चे को स्वदेशी नुस्खे से ठीक किया जा सकता है?

हां, आई फ्लू के लिए कुछ स्वदेशी नुस्खे बच्चों को आराम पहुंचा सकते हैं, लेकिन इसके लिए डॉक्टर की सलाह जरूर लें। आमतौर पर डॉक्टर अन्टीवायरल दवा देने की सलाह देते हैं जो इस संक्रमण के खिलाफ लड़ने में मदद करती हैं।

क्या आई फ्लू से बचाव के लिए टीकाकरण करवाना जरूरी है?

हां, आई फ्लू से बचाव के लिए टीकाकरण करवाना एक अच्छा उपाय है। टीकाकरण से बच्चों की इम्युनिटी मजबूत होती है और उन्हें इंफेक्शन का सामना करने की क्षमता मिलती है।

क्या आई फ्लू और कोरोना वायरस में कोई सम्बन्ध है?

नहीं, आई फ्लू और कोरोना वायरस अलग-अलग वायरसों से होते हैं और इनके बीच कोई सम्बन्ध नहीं है। हालांकि, इन दोनों संक्रमणों के लक्षण एक-दूसरे से भिन्न होते हैं और उनके इलाज भी अलग-अलग होते हैं।

क्या आई फ्लू से बचने के लिए मास्क पहनना जरूरी है?

हां, आई फ्लू से बचने के लिए मास्क पहनना एक महत्वपूर्ण उपाय है। मास्क बच्चों को इंफेक्शन से बचाता है और उनके आस-पास के लोगों को भी सुरक्षित रखता है।

अंत में एक संक्षेपित संदेश

इस आर्टिकल में हमने आई फ्लू से बच्चों के लिए कुछ महत्वपूर्ण उपायों के बारे में चर्चा की है। याद रखें कि बच्चों की इम्युनिटी कमजोर होती है और इसलिए उन्हें संक्रमण से बचाने के लिए खास सावधानियां बरतनी चाहिए। आप ऊपर दिए गए उपायों का पालन करके अपने बच्चों को सुरक्षित रख सकते हैं। ध्यान रखें कि ये उपाय बच्चों को इंफेक्शन से बचाने में मदद कर सकते हैं, लेकिन डॉक्टर की सलाह से पहले इनका इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है।

Read More..

सुबह बासी मुंह पानी पीने से मिलते हैं ये जबरदस्त फायदे, जान लीजिए…बहुत काम आएगा।

सुबह खाली पेट चबाकर खाएं ये 1 चीज, पाचन तंत्र होगा दुरुस्त।

Related Articles

Back to top button