क्राइमउत्तर प्रदेश / यूपीदुनिया
Trending

आईएसआई का कलीम

पाकिस्तान को लगा कि इस व्यक्ति पर कोई भी शक नहीं करेगा इसलिए पूरे परिवार को जेल में डाल दिया । वो खुद को देशभक्त बताता रहेगा और वहीं रहकर गद्दारी करता रहेगा।उसके चेहरे पर मासूमियत थी, वो खुद को डरा हुआ दिखा रहा था, पाकिस्तान की जेल में बंद वह और उसका परिवार पिता नफीस और मां आमना को जेल से रिहा कर दिया।

वह और उसका परिबार किस गलती से जेल बंद हुआ यह नहीं पता था,वह पाकिस्तान का बॉर्डर पार करके भारत आया तो उसने पाकिस्तान के खौफ की कई कहानियां सुनाई। उसने बताया कि पाकिस्तान की जेल में कैसे बीते उसके दिन। वो भारत लौटने पर अपनी खुशी बयां कर रहा था, वो खुद को देशभक्त बता रहा था,लोग उस पर यकीन कर लेते मगर आईएसआई से उसकी चैट उत्तर प्रदेश की एसटीएफ पुलिस ने उसकी मासूमियत पर से हैवानियत का पर्दा हटा दिया। वह और कोई और नहीं उत्तर प्रदेश के शामली का रहना वाला कलीम है। जो उत्तर प्रदेश में दहशत फैलाने और दंगे कराना चाहता था, यह साजिश आईएसआई ने जेल में रची , जेल जाना सिर्फ भारत को धोखा देना था।

पाकिस्तान की जेल में रची गई थी, भारत के खिलाफ एक खतरनाक साजिश।

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने कलीम के साथ एक खतरनाक डील की। इस डील के मुताबिक कलीम को उत्तर प्रदेश लौटने के बाद यहां पर जिहाद फैलाने के लिए काम करना था। इसे यहां पर एक आतंकी संगठन तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई थी जो राज्य के लड़कों को अपने साथ जोड़कर हिंसा फैलाने काम करेगा। इसके अलावा उत्तर प्रदेश पुलिस और देश की आर्मी से जुड़े अहम दस्तावेज और तस्वीरें भी इसे पाकिस्तान भेजनी थी। मगर सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी थी । 5 दिन तक कलीम शामली में रहा और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के अफसर दिलशाद मिर्जा उर्फ शेख खालिद हाफिज से संपर्क में रहा और यहां से जुड़ी जानकारी पाकिस्तान भिजवाता रहा।

कलीम ने नकली पेपर्स के आधार पर एक सिम कार्ड खरीदा। इस नंबर से इसने पाकिस्तान में दिलशाद के मोबाइल में एक व्हाट्सएप अकाउंट एक्टिवेट किया और उसपर लगातार चैट करता रहा। इसी चैट के जरिए इसने कई आपत्तिजनक और सेना से जुड़ी कई खुफिया चीजें पाकिस्तान तक भिजवाई।

पाकिस्तानी एजेंसी का मकसद उत्तर प्रदेश में सेना के ठिकानों की जासूसी, राफेल विमान की जासूसी और अन्य जानकारी जुटाना था, कलीम के पास से दो मोबाइल फोन, राफेल फाइटर जेट का स्केच, आर्मी जवानों की फोटो, उर्दू में लिखे हुए कुछ संदिग्ध मैसेज के साथ पेपर बरामद हुए हैं। व्हाट्सएप की चैट को लेकर भी पुख्ता सबूत उत्तर प्रदेश पुलिस के पास हैं।

कलीम का भाई तस्लीम लंबे समय से पाकिस्तान से हथियार सप्लाई का काम कर रहा है और उसके खिलाफ न सिर्फ उत्तर प्रदेश बल्कि, पंजाब और राजस्थान में भी केस दर्ज हैं।

read more… जानिये पाकिस्तान में आज किस बात को लेकर हुआ हमला

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button