मनोरंजन

Passed Away : तमिल फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर एक्टर मोहन का निधन ,सड़क पर मृत पड़ा मिला शव

मोहन तमिल फिल्म इंडस्ट्री के एक प्रसिद्ध अभिनेता थे, जिन्हें अक्सर फिल्मों में सपोर्टिंग भूमिकाओं में दिखाया जाता था। वे फिल्म इंडस्ट्री में अपने छोटे कद के लिए प्रसिद्ध थे। कमल हासन की फिल्म ‘अपूर्वा सगोधरार्गल’ में उनकी भूमिका ने उन्हें मानवाधिकारिता में महत्वपूर्ण पहचान दिलाई थी। उन्होंने उस फिल्म में कमल हासन के दोस्त की भूमिका निभाई थी ,31 जुलाई को थिरुपरंकुन्द्रम पुलिस को अभिनेता मोहन का शव बड़े रथ रोड के पास मिला था। रिपोर्टों के अनुसार, उन्हें वहां भीख मांगते हुए पाया गया था। शव को बाद में मदुरै सरकारी अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया था। इसके बाद उनके परिवारवालों को उनकी मौत की खबर दी गई थी।

मोहन के परिवार में तीन बहनें और दो भाई थे। वे सेलम में रहते थे। ‘अपूर्वा सगोधरार्गल’ के अलावा, उन्होंने ‘नान कदवुल’, ‘अथिसयां मनिथान गल’ जैसी फिल्मों में भी अभिनय किया था। ऐसा कहा जाता है कि मोहन को अभिनय के ज्यादा मौके नहीं मिले और उन्हें अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए भीख मांगने और सड़कों पर रहने की मजबूरी हो गई थी। उन्होंने दस साल पहले अपनी पत्नी को खो दिया था और उसके बाद उनकी आर्थिक स्थिति बिगड़ गई थी। मोहन की मौत की खबर सुनकर उनके चाहने वालों के दिल में दर्द और दुःख की लहर छाई। उनके अच्छे अभिनय और प्रतिभा के बिना तमिल फिल्म इंडस्ट्री की एक बड़ी कमी महसूस होगी। उनकी मृत्यु ने फिल्म इंडस्ट्री को एक सोचने का मौका दिया है कि हमें अपने कलाकारों की आर्थिक और मानसिक स्थिति का ध्यान रखना होगा।

मोहन की जिन्दगी की कठिनाइयों ने उन्हें भीख मांगने और सड़कों पर रहने के मार्ग पर ले जाया, जिससे उनकी आत्मसमर्पण और मनोबल में कमी आई। उनकी आर्थिक समस्याओं को समझते हुए, हमें इस समस्या का समाधान निकालने के लिए मिलकर काम करना होगा ताकि आने वाले दिनों में ऐसी दुखद घटनाएँ ना हों,मोहन की यादें हमेशा हमारे दिलों में रहेंगी, उनकी फिल्मों में दिखाई देने वाली अद्वितीय भूमिकाएँ हमें हमेशा प्रेरित करेंगी। उनके अभिनय से भरपूर फिल्मों की यादें हमें हमेशा हंसी और आवाज़ों के साथ याद रहेंगी।

इस दुखद मौके पर, हम मोहन के परिवार और चाहने वालों के साथ खड़े हैं और उनके प्रियजनों को हमारी गहरी संवेदनाएँ और सहानुभूति मिलती है। हम उनकी आत्मा की शांति की कामना करते हैं ,आखिर में, हमें यह याद दिलाना चाहिए कि हमारे समाज में हर किसी का महत्व होता है और हमें एक दूसरे के प्रति सहानुभूति और दया बनाए रखनी चाहिए।

{S.M -Medhaj News }

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button