उत्तर प्रदेश / यूपीराज्य

फार्मेसिस्ट, राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय (चंदौली) हुए निलम्बित

निदेशक, होम्योपैथ ने हर्षवर्धन सिंह, फार्मेसिस्ट राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय, कॉटा सम्बद्ध राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय, जयमोहनी, जनपद-चन्दौली द्वारा वरिष्ठ चिकित्साधिकारियों, विशेषकर महिला होम्योपैथिक चिकित्साधिकारियों के विरूद्ध अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुये गाली-गलौच करने, मारपीट की धमकी देने तथा उपजिलाधिकारी, नौगढ़ के द्वारा चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण किये जाने पर चिकित्सालय बन्द पाये जाने आदि आरोपों के सम्बन्ध में तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। इनके विरूद्ध विभागीय अनुशासनिक कार्रवाई संस्थित कर दी गयी है। डॉ0 बी0एन0 वर्मा प्रवक्ता राजकीय नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज लखनऊ को जांच अधिकारी नामित किया गया है।

निदेशक, होम्योपैथ प्रो० अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि आयुष मंत्री के निर्देशों के अनुपालन में उक्त कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि आयुष मंत्री डा० दयाशंकर मिश्र ‘‘दयालु’’ के स्पष्ट निर्देश है कि प्रदेश में कहीं भी किसी भी स्तर पर अनियमितता या लापरवाही बरतने वाले लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button