दुनिया

ये है फ्रांस की बैस्टिल डे परेड की खासियत जिसमें पीएम मोदी हिस्सा ले रहे हैं

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर साल 14 जुलाई को फ्रांस में मनाए जाने वाले बैस्टिल डे परेड में विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहेंगे, इस समारोह के लिए प्रधानमंत्री मोदी को फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने विशेष रूप से आमंत्रित किया था। फ्रांस के लिए 14 जुलाई बैस्टिल डे एक त्यौहार की तरह है। यह दिन फ्रांसीसी क्रांति यानी फ्रांसीसी क्रांति की प्रमुख घटना की याद में मनाया जाता है।

भारत के बिना दुनिया की आवाज बनाने का दावा कैसे कर सकता है UNSC: फ्रांस यात्रा से पहले PM मोदी

राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन के विशेष निमंत्रण पर भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 14 जुलाई को फ्रांस में बैस्टिल दिवस परेड में शामिल होंगे। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी बैस्टिल दिवस समारोह में विशेष अतिथि के रूप में शामिल होंगे। बैस्टिल डे फ्रांस के लिए किसी त्योहार से कम नहीं है। यह दिन फ्रांसीसी क्रांति की प्रमुख घटना यानी फ्रांसीसी क्रांति की याद में मनाया जाता है।

फ्रांस में सार्वजनिक अवकाश

बैस्टिल दिवस को फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस के रूप में भी जाना जाता है, जो हर साल 14 जुलाई को मनाया जाता है। इस दिन फ्रांस में सार्वजनिक अवकाश होता है और पूरा देश जश्न की तैयारी में जुटा होता है। इस दिन सरकार द्वारा एक भव्य सैन्य परेड का आयोजन किया जाता है। हर साल बैस्टिल दिवस समारोह में परेड देखने के लिए भारत और विदेश से बड़ी संख्या में लोग शामिल होते हैं।

प्रदर्शनकारियों की गुस्साई भीड़ ने बैस्टिल जेल पर धावा बोल दिया

यह विशेष दिन फ्रांस में 14 जुलाई 1789 को विद्रोह के दौरान बैस्टिल जेल पर हमले की याद में मनाया जाता है। उस समय फ्रांसीसी क्रांति जंगल की आग की तरह फैल रही थी। प्रदर्शनकारियों की गुस्साई भीड़ ने बैस्टिल जेल पर धावा बोल दिया और उनके कुछ साथियों को छुड़ा लिया। इस घटना ने फ्रांसीसी क्रांति को बढ़ावा देने का काम किया। इसी कारण से फ्रांस में यह दिन हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है।

अमेरिकी शहर बाढ़ के पानी में डूबा, बांध क्षमता के कगार पर

7800 सैनिक पैदल परेड में भाग लेते

14 जुलाई, 1880 को पेरिस में पहली बार बैस्टिल सैन्य परेड आयोजित की गई थी। उसके बाद हर साल फ्रांस में बैस्टिल मिलिट्री परेड आयोजित की जाती है। जिसमें राष्ट्रपति समेत तमाम गणमान्य लोग मौजूद हैं. परेड में करीब साढ़े नौ हजार सैनिक हिस्सा लेते हैं. जिसमें 7800 सैनिक पैदल परेड में भाग लेते हैं और बाकी सैनिक वाहनों, घोड़ों या सैन्य विमानों पर सवार होकर परेड में भाग लेते हैं।

बैस्टिल दिवस सैन्य परेड केवल दो बार आयोजित की गई

पीएम मोदी फ्रांस से वापसी के दौरान यूएई जाएंगे-मेधज़ न्यूज़

1880 के बाद से, चल रही बैस्टिल दिवस सैन्य परेड केवल दो बार आयोजित की गई है। 1940-1944 के बीच पहली बार द्वितीय विश्व युद्ध के कारण परेड नहीं हो सकी। वहीं 2020 में दूसरी बार कोरोना वायरस के कारण परेड रद्द कर दी गई, हालांकि, इसके स्थान पर अपनी जान जोखिम में डालकर दूसरों की सेवा करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों समेत अन्य कोरोना योद्धाओं के लिए एक छोटा सा समारोह आयोजित किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपने कार्यकाल में यह छठी फ्रांस यात्रा

बाढ़ ने अमेरिका में कहर बरपाया, लगाई गई इमरजेंसी

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपने कार्यकाल में यह छठी फ्रांस यात्रा है । इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी फ्रांस के प्रधानमंत्री, सीनेट (उच्च सदन) और नेशनल असेंबली (निचले सदन) के अध्यक्षों सहित फ्रांस के पूरे राजनीतिक नेतृत्व के साथ चर्चा करेंगे।

एक अध्ययन के अनुसार मधुमक्खियाँ महत्वपूर्ण मामलो में तेज़, बेहतर निर्णय लेने में मनुष्यों से आगे

तीन स्कॉर्पीन पनडुब्बियों की खरीद

प्रधान मंत्री मोदी की यात्रा के दौरान, भारत सरकार को 26 राफेल-एम लड़ाकू जेट और तीन स्कॉर्पीन पनडुब्बियों की खरीद के लिए फ्रांस के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करने की उम्मीद है। अगर दोनों देशों के बीच यह डील होती है तो इसकी लागत करीब 96 हजार करोड़ रुपये होगी।

कार्यक्रम का समापन 14 जुलाई को

कार्यक्रम का समापन 14 जुलाई को बैस्टिल दिवस पर लौवर संग्रहालय में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के सम्मान में राजकीय भोज के साथ होगा। इसके अगले दिन यानी 15 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूएई के लिए रवाना होंगे.

प्रधान मंत्री मोदी की फ्रांस यात्रा के दौरान, भारत और फ्रांस के बीच सुरक्षा, अंतरिक्ष, नागरिक परमाणु जुड़ाव, साइबर, जलवायु परिवर्तन, प्रौद्योगिकी और आतंकवाद सहित कई मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है।

read more… कुवैती वित्त मंत्री ने नियुक्ति के तीन महीने बाद इस्तीफा दिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button