राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

पीएम मोदी की स्वच्छता की सोच को प्लास्टिक मुक्त प्रदेश बनाकर और आगे बढ़ाना है

भारत के 77वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नगरीय निकाय निदेशालय में निदेशक डॉ नितिन बंसल ने ध्वजारोहण कर सिंगल यूज प्लास्टिक से स्वतंत्रता की अपील की। ध्वजारोहण के दौरान अपर निदेशक ऋतु सुहास ने प्रदेश को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए एकजुट होकर काम करने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर एक गोष्ठी, नव देवी सम्मान और स्वच्छ रील्स बनाकर जनमानस को जागरूक करने वाले प्रतिभागियों का भी सम्मान व पुरस्कृत किया गया।

निदेशक नगरीय निकाय डॉ नितिन बंसलने अपने उद्बोधन में भारत के 77वें स्वतंत्रता दिवस पर सभी प्रदेशवासियों को बधाई दी। डॉ बंसल ने कहा कि स्वतंत्रता हमें बहुत प्रयासों से हासिल करी है और प्रधानमंत्री मोदी  की सोच हमें स्वच्छता की तरफ प्रेरित कर रही है। स्वच्छता की इस सोच को और आगे बढ़ाने के लिए प्लास्टिक से मुक्ति पाना हमारे लिये बहुत जरूरी हो गया है। प्लास्टिक से स्वतंत्रता हासिल करने के लिए हमें सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करना पड़ेगा। क्योंकि यह प्लास्टिक गलता नहीं है और हमेशा हमारे वातावरण में रहता है। इस प्लास्टिक से जैसे ही हम अपने आप को मुक्त कर लेंगे, तो हमारे शहरों की स्वच्छता बढ़ जाएगी और हमारे आसपास का जो माहौल है, वह साफ सुथरा हो जाएगा। हमें प्लास्टिक के विकल्प इस्तेमाल करने हैं और इसके साथ ही आप सबको यह मेरी तरफ से संदेश रहेगा की प्लास्टिक का अपने आसपास जहां भी इसका उपयोग होता दिखे तो तो उसे भी रोकने का प्रयास करें। आप सभी अपने सहयोगियों, मित्रों और अन्य लोगों को भी प्लास्टिक के प्रयोग को बंद करने और उनके विकल्प को खोज कर इस्तेमाल करने के लिए जागरूक करें। प्लास्टिक का प्रयोग को बंद करने का एक प्रभावी तरीका यह भी है कि आप जब भी बाजार जाए तो झोला साथ ले जाएं और किसी भी समान को प्लास्टिक में लेने को जगह उसे पेपर से बने लिफाफों में देने का आग्रह करें और प्लास्टिक के दुष्प्रभावों के बारे में लोगों को जागरूक भी करें।

77वें स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर नगरीय निकाय निदेशालय स्वाति सभागार में एक गोष्ठी का भी आयोजन किया गया। गोष्ठी में विभाग के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों, स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य कर रहीं महिलाओं और रील्स बनाकर लोगों को जागरूक करने वाले युवक-युवतियों ने भी अपने विचार व्यक्त किये। गोष्ठी में अमर शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों को भी नमन किया गया। सभागार में उपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपने-अपने अंदाज ने वीर सपूतों और बलिदानियों को याद किया। किसी ने कविता पढ़ी तो किसी ने गीत गाकर किया नमन। गोष्ठी में जान है, तिरंगा, शान है तिरंगा शीर्षक का शेर पढ़ते हुए आज़ादी की वीर गाथा का वर्णन किया गया। वहीं ए देश मेरे तेरी शान शीर्षक गीत से सभागार गूंज उठा। अधिकारियों-कर्मचारियों ने अपने वक्तव्यों में कहा कि देश महान उसके नागरिकों के कर्तव्यों से बनता है। हम नियम बनाते भी है, और तोड़ते भी हम ही है। हमें अगर देश को विश्व गुरु बनाना है तो सभी को एक जुट होकर प्रयास करना ही पड़ेगा। इस विशेष अवसर पर सभी ने देश की एकता और अखंडता को बनाये रखने की अपील की।

गोष्ठी में विशेष सचिव सत्य प्रकाश पटेल जी ने कहा कि लोकल बॉडी में आना, घर वापसी जैसा है। नितिन सर के काम करने का अनुभव बहुत अच्छा रहा है। उन्होंने कहा कि आज़ादी के बाद 2 महत्वपूर्ण चीज़े हुई है, वो है स्वच्छ भारत मिशन और स्मार्ट सिटी। स्वच्छ भारत मिशन ने हमारी सोच को बदला है जो आज़ादी के बाद सबसे बड़ी उपलब्धि है। वहीं स्मार्ट सिटी जो पायलट पटोजेक्ट के रूप में शुरू हुआ है और इसके विस्तार से प्रदेश को बदलने में हम सब मिलकर कार्य कर रहे हैं।

निदेशक डॉ नितिन बंसल जी ने सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह आज़ादी हमें अनेकों वीर सपूतों के बलिदान से मिली। हमारे फौज के जवानों और किसान भाइयों के साथ हर नागरिक जो देश को आगे बढ़ाता है में उनको नमन करता हूं। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता केवल कहने से स्वतंत्रता नहीं है। जब देश आज़ाद हुआ तो, उस वक़्त ऐसे पल आये, विघटन हुआ, विभाजन हुआ, उस समय एकता और अखंडता बनाये रखने के संविधान में बदलाव करते हुए सभी नागरिकों को स्वतंत्र विचार व्यक्त करने की छूट दी गयी। हर नागरिक आज के समय इस सोच में है कि वो देश के लिए क्या कर सकता है। इस तरह के आयोजन और अभियान एकता अखण्ड बनाये रखने में मदद करते हैं। हम समाज में स्वच्छता में प्रति अपने दायित्यों को निभाये और दूसरों को भी प्रेरित करें। समाज को संचारी रोगों से मुक्ति दिलाने के लिए स्वच्छता के मिशन को आगे बढ़ाने में सहयोग के साथ से सभी को जागरूक करें। जिससे हम सब का प्रयास आने वाली पीढ़ियों को उज्ज्वल भविष्य दे सके।

अपर निदेशक ऋतु सुहास ने सभी को बधाई देते हुए द्वारिका प्रसाद जी के एक रचना पढ़ी… वीर तुम बढ़े चलो, वीर तुम बढ़े चलो…। उन्होंने कहा कि आज हम अपनी आजादी मना रहर है और हम शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि दी रहे हैं। हमें अपने क्षेत्र को स्वच्छ और सुंदर बनाकर स्वच्छ उत्तर प्रदेश के निर्माण में अहम भूमिका निभानी है।

09 श्रेणियों में 30 महिलाओं को नव देवी सम्मान व स्वच्छ रील्स के 3 प्रतिभागियों को किया गया पुरस्कृत।

स्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं और रील्स बनाकर स्वच्छता के प्रति आम जनमानस को जागरूक करने वाले प्रतिभागियों को निदेशक डॉ. नितिन बंसल व अपर निदेशक ऋतु सुहास द्वारा सम्मानित भी किया गया। नव देवी सम्मान अंतर्गत नौ श्रेणियों में 30 महिलाओं को सम्मानित किया गया।

स्वयं सहायता समूह की श्रेणी में बरेली नगर निगम की पारुल मलिक को प्रथम, लखनऊ नगर निगम से आंचल सिंह द्वतीय, आगरा नगर निगम की नेहा कुशवाहा को तृतीय और गाजियाबाद नगर निगम से निधि गौतम को सांत्वना पुरस्कार मिला। वेस्ट टू वेल्थ की श्रेणी में प्रथम पुरस्कार झांसी की नीलम सारंगी को, द्वितीय नगर पंचायत कुरावली मैनपुरी की सुधा देवी को, तृतीय स्मृति मिश्रा कानपुर नगर निगम और सांत्वना पुरस्कार संतोष कुमार सिंह नगर पंचायत नगर पालिका परिषद आजमगढ़ को दिया गया। एंटरप्रेन्योर इन वेस्ट मैनेजमेंट की श्रेणी में मेरठ नगर निगम की कनिका राणा को प्रथम, अयोध्या नगर निगम की अनीता द्विवेदी को द्वितीय, नगर पालिका परिषद देवबंद सहारनपुर कि श्वेता धवन को तृतीय पुरस्कार मिला।

सफाई मित्र की श्रेणी में नगर निगम मुरादाबाद की नंदिनी रस्तोगी को प्रथम, नगर निगम प्रयागराज की फूल कली को द्वितीय, नगर पालिका परिषद रायबरेली की आरती को तृतीय पुरस्कार मिला। मास्टर ट्रेनर की श्रेणी में वैशाली बियानी कानपुर नगर निगम को प्रथम, दुर्गेश शर्मा नगर पालिका परिषद मुरादनगर गाजियाबाद को द्वितीय, सरिता तिवारी वाराणसी नगर निगम को तृतीय पुरस्कार मिला। नवाचार में मेरठ नगर निगम की अपेक्षा अग्रवाल को प्रथम, नगर पंचायत गोसाईगंज लखनऊ के मंजू वर्मा को द्वितीय, फिरोजाबाद नगर निगम से डॉ. सीमा रानी निमेष को तृतीय और शाहजहांपुर नगर निगम की साक्षी सिंह सिरारी को सांत्वना पुरस्कार मिला।

कम्युनिटी कंपोस्टिंग की श्रेणी में नगर पालिका परिषद गाजीपुर की सीमा यादव को प्रथम और गोरखपुर नगर निगम की शीला पांडे को द्वितीय पुरस्कार मिला। ट्रांसफॉर्मेशन ऑफ यूएलबी की श्रेणी में मथुरा नगर निगम की बृजंधा पराशर समिति को प्रथम, कानपुर नगर निगम से सपना मुखर्जी को द्वितीय और नगर पालिका परिषद लोनी गाजियाबाद की नीलम को तृतीय पुरस्कार मिला। वहीं कम्युनिटी अवेयरनेस की श्रेणी में अल्पना भारतीय श्रीवास्तव शाहजहांपुर नगर निगम से प्रथम, रोमा रानी नगर पालिका परिषद जालौन को द्वितीय, अर्चना सागर बरेली नगर निगम को तृतीय और अलीगढ़ नगर निगम की प्रेमलता सिंह को सांत्वना पुरस्कार दिया गया।

वहीं स्वच्छ रील्स में जौनपुर के स्वच्छ भारत मिशन नगरीय के ब्रैंड अम्बेसडर स्वराम शर्मा को प्रथम, लखनऊ की सुरभि त्रिपाठी को द्वितीय और कानपुर पलोगर्स को तृतीय पुरस्कार मिला है।

इस आयोजन के दौरान निदेशक नगरीय निकाय डॉ नितिन बंसल, विशेष सचिव सत्य प्रकाश पटेल, अपर निदेशक ऋतु सुहास, सहायक निदेशक डॉ. असलम अंसारी, सहायक निदेशक शालिनी तोमर, उप निदेशक रश्मि सिंह, उपनिदेशक डॉ सुनील यादव, एडी ट्रेनिंग (अमृत) पीके श्रीवास्तव, एडी लेखा अखिल सिंह, मुख्य अभियंता कमलजीत सिंह समेत अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button