शिक्षापंजाब

पंजाब के मुख्यमंत्री ने शिक्षा विभाग में भर्ती अभियान की घोषणा की

पंजाब के मुख्यमंत्री ने शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने की प्रतिबद्धता के अनुरूप, राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर भर्ती अभियान शुरू करने का फैसला किया है।

Table of Contents

भर्ती अभियान की घोषणा

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, यहां शिक्षक दिवस के अवसर पर एक राज्य स्तरीय समारोह के दौरान एक सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पंजाब को शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाने की प्रतिबद्धता के अनुरूप, राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर भर्ती अभियान शुरू करने का फैसला किया है।

शिक्षा के क्षेत्र में खाली पदों का मुद्दा

मान ने कहा कि बड़ी संख्या में पद खाली पड़े हैं और इसके कारण पढ़ाई प्रभावित हो रही है। आने वाले दिनों में कैंपस मैनेजर और सफाई कर्मचारियों समेत बड़ी संख्या में पदों पर भर्तियां की जाएंगी।

भर्ती अभियान की विवरण

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 80 शिक्षकों को राज्य स्तरीय पुरस्कारों से सम्मानित किया और कहा कि सरकार पंजाब में ‘स्कूल ऑफ एमिनेंस’ शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

स्कूल ऑफ एमिनेंस का आलंब

मान ने कहा कि इन स्कूलों की स्थापना के लिए 68 करोड़ रुपये का बजट जारी किया गया है और पहला स्कूल 13 सितंबर को लोगों को समर्पित किया जाएगा।

बजट की बात

उन्होंने कहा कि पूरे पंजाब में स्कूलों को बदलने के लिए 10,000 कक्षाओं को “नया रूप” दिया जा रहा है, उन्होंने कहा कि ये कक्षाएँ हाई-टेक उपकरणों से सुसज्जित होंगी। मान ने कहा, इसके अलावा, राज्य में 1,000 नई कक्षाएं भी बनाई जा रही हैं।

शिक्षा प्रणाली की दुरुस्ती

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार शिक्षा प्रणाली को पूरी तरह से दुरुस्त करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है और कहा कि स्कूल के प्रधानाध्यापकों और शिक्षकों को अपने कौशल को उन्नत करने के लिए नियमित रूप से देश और विदेश के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों में भेजा जा रहा है।

छात्रों को अंतरिक्ष अनुसंधान में शामिल करने की पहल

मान ने कहा कि इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि शिक्षक शिक्षा क्षेत्र में उन्नत वैश्विक प्रथाओं के बारे में सीखने में सक्षम हों। इसी तरह, उन्होंने कहा, वैज्ञानिक सोच को बढ़ावा देने के लिए छात्रों को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन और अन्य संस्थानों में भेजा जा रहा है।

समस्याओं का समाधान

मान ने आश्वासन दिया कि उनकी सरकार शिक्षकों की समस्याओं को हल करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सभी कानूनी और प्रशासनिक चुनौतियों को पार करते हुए 12,710 शिक्षकों की सेवाएँ को नियमित किया है।

लड़कियों के लिए बस सेवा की घोषणा

मान ने कहा कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाली लड़कियों के लिए जल्द ही बस सेवा शुरू की जाएगी।

समापन

इस घोषणा से स्पष्ट होता है कि पंजाब की सरकार शिक्षा क्षेत्र में सुधार करने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठा रही है। इससे राज्य के शिक्षा प्रणाली में सुधार होगा और छात्रों को बेहतर शिक्षा का मौका मिलेगा।

FAQs:

इस भर्ती अभियान के तहत कौन-कौन से पदों पर भर्ती की जाएगी?

इस अभियान के तहत कैंपस मैनेजर और सफाई कर्मचारियों समेत बड़ी संख्या में पदों पर भर्तियां की जाएंगी.

स्कूल ऑफ एमिनेंस” क्या है और इसका मुख्य उद्देश्य क्या है?

“स्कूल ऑफ एमिनेंस” प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य है शिक्षा क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता की प्राप्ति करना, और इसके तहत 68 करोड़ रुपये के बजट से स्कूल बनाए जाएंगे।

इस अभियान के अंतर्गत किस प्रकार की तैयारियां की जा रही हैं और कितनी नई कक्षाएं बनाई जा रही हैं?

इस अभियान के अंतर्गत 10,000 कक्षाएँ “नया रूप” में तैयार की जा रही हैं और 1,000 नई कक्षाएँ बनाई जा रही हैं।

कैसे शिक्षकों के कौशल को उन्नत करने के लिए क्या कदम उठाये जा रहे हैं?

शिक्षकों को नियमित रूप से देश और विदेश के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों में भेजा जा रहा है ताकि वे उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा प्रदान कर सकें।

Read More:टीचर्स डे 2023: इतिहास के प्रसिद्ध शिक्षक-शिष्य की जोड़ी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button