मनोरंजन

रणदीप हुड्डा का डिप्रेशन: एक छूटी तथ्यों की खोज

रणदीप हुड्डा, जिन्हें उनकी फिल्मों और फैशन सेंस के लिए जाना जाता है, हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। लेकिन हाल ही में, उन्होंने खुद को लेकर एक खुलासा किया है जो हम सभी के लिए सदमें का कारण बना है। रणदीप हुड्डा ने बताया है कि वे लंबे समय से डिप्रेशन का संघटन कर रहे थे। आइए जानते हैं कि इस पूरे मामले का बयान क्या है और कैसे फिल्म ‘बैटल ऑफ सारागढ़ी’ इसका संवाददाता बन गई।

बैटल ऑफ सारागढ़ीऔर डिप्रेशन का कनेक्शन

रणदीप हुड्डा ने हाल ही में एक साक्षात्कार में डिप्रेशन के बारे में खुलासा किया है, और उन्होंने बताया कि वे एक लम्बे समय से इस समस्या का सामना कर रहे थे। 2016 में जब उन्हें राजकुमार संतोषी की फिल्म ‘बैटल ऑफ सारागढ़ी’ के लिए चुना गया, तब इस फिल्म के संवाददाता बनने के बाद वे डिप्रेशन की ओर बढ़ चुके थे।

केसरीऔर डिप्रेशन की भावना

रणदीप हुड्डा ने डिप्रेशन के बारे में और भी बताया कि उन्होंने ‘केसरी’ के रिलीज होने के बाद भी इस समस्या से लड़ ना सकने के चलते इस फिल्म की रिलीज को टाल दिया। ‘केसरी’ की रिलीज होने के बाद उसका करियर बॉक्स ऑफिस पर असफल रहा, जिसके परिणामस्वरूप वे और भी डिप्रेशन के घेरे में चले गए। इसके साथ ही रणदीप हुड्डा ने बताया कि उन्होंने इस समय अपने आप को एक कमरे में बंद कर लिया था, क्योंकि उन्हें यह डर सता रहा था कि कोई उनकी बालों और दाढ़ी को काट देगा।

साथी और परिवार का साथ

रणदीप हुड्डा के माता-पिता ने उन्हें इस सच्चाई का सामना करते समय आकर्षित किया था। वे उनके साथ रहकर उनके साथी और परिवार के समर्थन को प्राप्त करने में सफल रहे हैं।

Read more….मास्क लगाकर Apple Store में घुस गए 100 लोग, देखते ही देखते लूट लिए करोड़ों रुपये के आईफोन 15|

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button